कारतूस बनाने की फैक्ट्री में धमाके के बाद लगी भीषण आग से कोहराम, पॉश कॉलोनी में चल रही थी फैक्ट्री

जनपद सीतापुर में मंगलवार देर रात कारतूस बनाने वाले एक मकान में तेज धमाके के साथ आग लगने से हड़कंप मच गया।

सीतापुर. जनपद सीतापुर में मंगलवार देर रात कारतूस बनाने वाले एक मकान में तेज धमाके के साथ आग लगने से हड़कंप मच गया। पॉश कॉलोनी के बीच धमाका इतना तेज था कि मकान के ऊपरी हिस्से में बने कमरे की छत और दीवारों में दरार आ गयी। स्थानीय लोग दहशत में आ गये। मकान के अंदर आग लगते ही वहां विस्फोटक मौजूद होने के चलते तेज धमाके होने लगे और आग विकराल हो गयी। स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों में कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। स्थानीय लोगों के मुताबिक इस मकान में लंबे समय से 12 बोर कारतूस बनाने का काम होता चला आ रहा है और उसी के चलते यह घटना हुई।

पॉश कॉलोनी में चल रही थी फैक्ट्री

घटना शहर कोतवाली क्षेत्र के रिहायसी कॉलोनी प्रेम नगर की है। मिली जानकारी के मुताबिक यहां के निवासी पाहवा गन हाउस के मालिक जगमोहन के नाम 12 बोर की कारतूस बनने और पैकिंग करने का लाइसेंस 1981 से है। यहां पॉश कॉलोनी के बीच स्थित इसी फैक्ट्री के मकान में धमाके के बाद भीषण आग लग गयी। धमाके की आवाज सुनते ही स्थानीय लोग बाहर निकले तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी क्योंकि आबादी के बीच धमाकों से लगी आग विकराल रूप ले चुकी थी और मकान के हिस्सों में दरारें भी आ चुकी थी। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया और मामले की सूचना पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी गयी। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया और पुलिस ने बयान दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू की। पुलिस का कहना है कि वर्ष 1981 से इस फैक्ट्री को संचालित करने का लाइसेंस है लेकिन रिहायशी कॉलोनी के बीच इस तरह का कार्य अवैध है। पुलिस का कहना है कि इस घटना में किसी भी प्रकार की कोई जनहानि नही हुई है और मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned