लॉकडाउन में रचाई थी पहली शादी, अब करने जा रहा था दूसरी, पत्नी को चल गया पता और फिर...

लड़का करने जा रहा था दूसरी शादी, तभी पुलिस के साथ पहुंच गई पहली पत्नी, और फिर जो हुआ...

सीतापुर. एक युवक को दूसरी शादी के लिए बारात ले जाने की तैयारी करना उस वक़्त भारी पड़ा जब बारात जाने से पहले ही पहली पत्नी ने थाने पहुंचकर अपनी आपबीती बतायी और पुलिस के साथ पति के घर पहुंच गयी। बारात जाने की तैयारी कर रहे परिवारीजन पुलिस को देखकर भौचक्के रह गए। पुलिस दूल्हे को गिरफ्तार कर उसे और पहली पत्नी को थाने ले आयी। परिवारीजन के आपसी समझौते के बाद पुलिस ने पड़ोस के सूर्य मंदिर में ही दोनों की शादी करवाई और वापस घर भेजा। उधर बारात के स्वागत की तैयारी कर रहे युवती के परिवार को जब यह सूचना मिली तो वह अवाक रह गए।


लॉकडाउन में रचाई थी पहली शादी

मामला हरगांव थाना क्षेत्र के ग्राम कजियारपुर का है। मिली जानकारी के मुताबिक यहां के निवासी सदानन्द का पुत्र विमल राज मुम्बई में रहकर एक बिल्डिंग बनाने वाली कंपनी में काम करता था। कामकाज के दौरान ही विमल ने काजल नाम की एक युवती ने शादी रचाई और दोनों वहीं रहकर काम काज करने लगे। वैश्चिक महामारी कोरोना के चलते जब लॉकडाउन हो गया तो वहां काम होने के चलते विमल पत्नी काजल को तीन सप्ताह पूर्व लेकर अपने गांव आ गया। पीड़ित काजल के मुताबिक, विमल ने उसे घर न ले जाकर चाचा के घर पर रोक दिया और उधर विमल को घर आया देखकर परिवारीजनों ने उसकी शादी लखीमपुर से तय कर दी। तिलक और शादी 19 और 20 जून को तय हुयी इसलिए तारीख नजदीक देखकर विमल काजल को लेकर लखीमपुर अपनी मौसी के यहां छोड़ आया और कुछ दिन बाद आकर ले जाने को कहा। विमल वापस आकर अपनी शादी को तैयारियों में लग गया और बीते शुक्रवार को तिलक समारोह हुआ। बीते शनिवार को विमल बारात ले जाने को लेकर सारी तैयारी कर रहा था तभी पहली पत्नी काजल को दूसरी शादी की भनक लग गयी वह आनन-फानन में हरगांव पहुंचकर पुलिस को पूरी कहानी बतायी।


पुलिस ने करायी शादी

पत्नी काजल की शिकायत पर विमल के घर पहुंची पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर थाने ले आयी। उधर लखीमपुर के मूसेपुर में विमल की बारात के स्वागत की तैयारी चल रही थी तभी वहां यह सूचना वहां पहुंची की दूल्हा गिरफ्तार कर लिया गया हैं। इस सूचना पर विमल के परिवारीजन और लड़की के परिवार वाले थाने पहुंच गए। पुलिस और परिजनों के सामने जब पहली पत्नी काजल ने आपबीती बतायी तो सभी के होश उड़ गए। थानाध्यक्ष कुलदीप तिवारी के मुताबिक थाने में समझौते के बाद विमल और काजल का विवाह सूर्यकुंड मंदिर में पुलिस की मौजूदगी में कराया गया।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned