पुलिस टीम पर हमले के मुख्य आरोपी का गिराया गया मकान, आरोपी अभी भी फरार

पुलिस टीम पर हमले के मुख्य आरोपी का घर गिराने के दौरान मानपुर इन्स्पेक्टर मय पुलिस बल व अन्य कई थानों की पुलिस समेत पीएसी के जवान मुस्तैदी के साथ फूलपुर गांव में तैनात रहे।

By: नितिन श्रीवास्तव

Updated: 26 Aug 2020, 10:04 AM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीतापुर. उत्तर प्रदेश के सीतापुर में पुलिस टीम पर हुए हमले के मामले ने अब तूल पकड़ लिया हैं। मानपुर थाने पर तैनात सिपाही कर्मवीर व प्रदीप कुमार पर किए गए पूर्व प्रधान पुत्र व उनके सहयोगियों द्वारा जानलेवा हमला के बाद पुलिस पूरी तरह हरकत में आ गई हैं। यहां दूसरे दिन भी पूरी तरह फूलपुर गांव छावनी में तब्दील रहा। जबकि प्रधान श्यामसुन्दरी पत्नी रामआसरे का जेसीबी. से पुलिस द्वारा मकान ढहा दिया गया है। कानपुर के बिकरु कांड में आरोपी के खिलाफ हुयी कार्रवाई के बाद सीतापुर में भी अब आरोपी के घर को ढहा कर विकरु कांड दोहराया गया हैं।


पुलिस टीम पर हमले के मुख्य आरोपी का घर गिराने के दौरान मानपुर इन्स्पेक्टर मय पुलिस बल व अन्य कई थानों की पुलिस समेत पीएसी के जवान मुस्तैदी के साथ फूलपुर गांव में तैनात रहे। यहां के 14 अभियुक्तों में सुनील पुत्र रामआसरे, रेखा पुत्री रामआसरे, अमीना पत्नी रसीद अली, रेहाना पत्नी खलील, हारून पुत्र रसीद अली, याकूब पुत्र रसीद अली, संजय पुत्र सेवन, नागेश्वर पुत्र नत्थाराम व रामौतार पुत्र नत्था समेत 9 अभियुक्तों को पुलिस ने हिरासत में लेकर जेल भेजने की कार्रवाई कर रही है जबकि पुलिस द्वारा मुख्य आरोपी पूर्व प्रधान पति समेत 5 अभियुक्तों की तलाश जोरों पर जारी है। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मुख्य आरोपी पूर्व प्रधान के घर को अवैध घोषित कर उसे जेसीबी लगाकर ध्वस्त करने की कार्यवाई की हैं। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना हैं कि जिस जमीन पर मकान है उसे पहले ही अवैध घोषित किया जा चुका था इसलिए यह कार्यवाई की गयी हैं। घटना को लेकर काफी सख्त हुई पुलिस के चलते इस गांव व इलाके के अराजक तत्वों में दहशत का माहौल बना हुआ है। वहीं पुलिस और प्रशासनिक अमले द्वारा उठाये गए इस ध्वस्तीकरण कार्यवाई के चलते सीतापुर में भी बिकरु कांड की याद जरूर दिला दी हैं और अपराधियों में खौफ पैदा कर दिया हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned