28 वर्ष का जवान युवक 30 घंटे से बोरवेल में है फंसा, जिंदा है या नहीं, बेबस पिता हाथ जोड़कर बार-बार भगवान से मांग रहा दुआ

बोरवेल में फंसा युवक
रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
पिता की आंख आंसू से भरी
एसडीआरएफ की टीम का एक सदस्य गड्ढे में उतरा
मैन्युल तरीके से गड्ढे की हो रही पड़ताल
नाराज ग्रामीणों ने एनएच-24 पर लगाया जाम
जिला प्रशासन पर रेस्क्यू में लापरवाही का आरोप
पुलिस बल पूर्वक लोगों को हटाने में जुटी।

By: Mahendra Pratap

Published: 25 Feb 2020, 06:20 PM IST

सीतापुर. करीब 30 घंटे बीत चुके हैं, सीतापुर जिले में एक युवक बोरवेल में फंस गया है। जिसे निकालने का प्रयास किया जा रहा है, पर अभी सफलता नहीं मिली है। पिता के आंखों से लगातार आंसू निकल रहे हैं, बार-बार बेबस पिता हाथ जोड़कर भगवान से दुआ मांग रहा है। उधर उत्तर प्रदेश आपदा राहत बल (एसडीआरएफ) की टीम मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है। रेस्क्यू टीम ने रस्सी में बांधकर एक सदस्य को गड्ढे में उतारा है और मैन्युल तरीके से गड्ढे की पड़ताल कर रही है। नाराज ग्रामीणों ने जिला प्रशासन पर रेस्क्यू में लापरवाही का आरोप लगाते हुए एनएच-24 पर जाम लगाया।

सीतापुर जिले के मछरेहटा क्षेत्र के भिठौरा मजरापट्टी गांव का मामला है। युवक अनुज (28 वर्ष) पुत्र श्याम लाल सोमवार को तीन बजे के करीब खेत गया था। खेत में बोरिंग खराब हो गई थी। पिता के साथ बोरिंग की पाइप ठीक कर रहा था। बोरिंग का गढ्ढा लगभग 35-40 फीट गहरा था। वह नीचे उतरकर पाइप खोल रहा था। तभी अचानक गढ्ढे की मिट्टी ढह जाने से अनुज दब गया। बेबस पिता चीखते रहे और वह मौत के कुएं में समाता गया। जिस पर पिता ने घबराकर शोर मचाया। शोर सुनकर आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। पुलिस को सूचना दी गई। एसडीआरएफ ने सोमवार शाम छह बजे से जेसीबी के सहारे गड्ढे की खुदाई शुरू कर रखी है पर अभी तक कोई सफलता नहीं मिली। मंगलवार की सुबह से भी राहत बचाव कार्य जारी है।

जब पिता से पूछा गया तो उसने रोते रोते बताया कि, मेरा बेटा खुदाई कर रहा था, मैंने उसे रोका कहा, रहने दो पर वह नहीं माना कहा, बस थोड़ा सा काम रह गया, तब उसे बिस्कुट दिया और पानी पिलाया। उसके बाद वह खुदाई में जुट गया...बस वह धड़ाम से गिर गया। पिता ने आगे बताया कि गड्ढा तीन हाथ चौड़ा और ढाई हाथ लम्बा था, बेटा 20 फीट अंदर गिर गया।

करीब 30 घंटे बीत चुके हैं, पिता के आंखों से लगातार आंसू निकल रहे हैं, बेबस पिता हाथ जोड़कर बार-बार भगवान से दुआ मांग रहा है। उत्तर प्रदेश आपदा राहत बल (एसडीआरएफ) की टीम मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है। रेस्क्यू टीम ने रस्सी में बांधकर एक सदस्य को गड्ढे में उतारा है और मैन्युल तरीके से गड्ढे की पड़ताल कर रही है। नाराज ग्रामीणों ने जिला प्रशासन पर रेस्क्यू में लापरवाही का आरोप लगाते हुए एनएच-24 पर जाम लगाया।

एसडीएम मिश्रिख ने राजीव पांडेय घटना की जानकारी देते हुए कहाकि, कुएं के अंदर पाइप निकालने के लिए गया युवक गिर गया, उस पर मिट्टी का एक बड़ा ढेर गिर गया। जिसके बाद से एसडीआरएफ, पुलिस की टीम और राजस्व विभाग के कर्मचारी उसे निकालने में मदद कर रहे हैं। सोमवार शाम को बारिश हो गई थी बावजूद 25 फुट की खुदाई कर दी गई है, प्रयास जारी है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned