सीतापुर डीएम सारिका मोहन ने किया नगर पालिका का निरीक्षण, नई बिल्डिंग में गड़बड़झाला, काम रोका

सीतापुर डीएम सारिका मोहन ने किया नगर पालिका का निरीक्षण, नई बिल्डिंग में गड़बड़झाला, काम रोका
Sitapur District Magistrate Dr Sarika Mohan

Shatrudhan Gupta | Publish: Sep, 18 2017 10:59:37 PM (IST) | Updated: Sep, 18 2017 11:01:26 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

डॉ. सारिका मोहन ने जांच पूरी न हो जाने तक पालिका कार्यालय में बन रही नई बिल्डिंग के निर्माण का काम भी रुकवा दिया।

सीतापुर. जिलाधिकारी डॉ. सारिका मोहन ने सोमवार को नगर पालिका का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने कई लापरवाही को पकड़ा, इस पर उन्होंने असंतोष जताया और अफसरों को सुधर जाने की नसीहत दी। डॉ. सारिका मोहन ने जांच पूरी न हो जाने तक पालिका कार्यालय में बन रही नई बिल्डिंग के निर्माण का काम भी रुकवा दिया।

दरअसल, सोमवार को डीएम सारिका मोहन अचानक सीतापुर शहर के नगर पालिका परिसर में पहुंच गईं। इस दौरान उन्होंने ने नगर पालिका के अंदर बनाए गए शौचालय का निरीक्षण किया तो काफी अनियमितता मिलीं, जिसको लेकर जिलाधिकारी ने नगर पालिका अधिकारियों को फटकार लगाते हुए जल्द सुधार करने के निर्देश भी दिए। साथ ही जिलाधिकारी ने पालिका परिसर में ही बन रही नई बिल्डिंग का भी जायजा लिया। इस दौरान डीएम ने एक-एक निर्माण का बारीकी से निरीक्षण किया। इस दौरान कुछ कमियां मिलने पर उन्होंने नए भवन के काम को तत्काल रुकवा दिया। जिलाधिकारी ने बताया की निरीक्षण के दौरान और भी कई कमियां मिली हैं। वहीं पुरानी नगर पालिका की पुरानी बिल्डिंग का भी निरीक्षण किया, जिसके बाद अधिकारियों को निर्देश भी दिए गए।

डीएम के निरीक्षण में उजागर हुआ ठेकेदार अधिकारियों का गठजोड़
जिलाधिकारी डॉ. सारिका मोहन जब सोमवार को नगर पालिका परिसर पहुंचीं तो वहां किसी भी अधिकारी को इसकी भनक तक नहीं थी। डीएम के अचानक पहुंचने पर वहां हड़कंप मच गया। इधर-उधर घूम रहे अफसर तुरंत मौके पर पहुंच गए। जिलाधिकारी ने नगर पालिका में हाल ही में बने शौचालय और नए बन रहे भवन की जांच करने पहुंची तो उनको काफी खामी नजर आई। उन्होंने जैसे ही काम को तत्काल रोके जाने के निर्देश दिए तो अधिकारियों और कार्य करा रहे ठेकेदार सकते में आ गए।

जिला प्रशासन संभाल रहा पालिका का काम
मालूम हो कि पिछले दो माह से जिला प्रशासन नगर पालिकाओं का पूरा कामकाज देख रहा है। क्योंकि पालिकाध्यक्षों का कार्यकाल पूरा हो चुका है। ऐसे में अब किसी प्रकार का कोई राजनीतिक हस्तक्षेप भी नगर पालिका में नजर नहीं आ रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned