3 माह बाद भी पकड़ से दूर हैं तिहरे हत्याकांड के हत्यारे, पीड़ित पुत्रियों ने बंद किया व्यापार

Abhishek Gupta

Publish: Sep, 16 2017 10:56:06 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
3 माह बाद भी पकड़ से दूर हैं तिहरे हत्याकांड के हत्यारे, पीड़ित पुत्रियों ने बंद किया व्यापार

सीतापुर शहर कोतवाली पुलिस 3 माह बाद भी बहुचर्चित तिहरे हत्याकांड का खुलासा नहीं कर सकी है.

हिमांशु पुरी.
सीतापुर. सीतापुर शहर कोतवाली पुलिस 3 माह बाद भी बहुचर्चित तिहरे हत्याकांड का खुलासा नहीं कर सकी है। इस हत्याकांड में शामिल दो हत्यारे अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं और अब पुलिस की नाकामी को देखकर पीड़ित पुत्रियों ने अपने पिता का प्रतिष्ठित दाल का व्यापार भी बंद कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ सीतापुर पुलिस की हालिया कार्यशैली पर नजर दौड़ाएं तो यहां की जिम्मेदार पुलिस बेहद गैरजिम्मेदाराना रवैया अख्तियार कर निर्दोषों पर अपराधियों जैसी कार्यवाही करने में लगी है।

दरअसल बीती 6 जून को सीतापुर के सिविल लाइन मोहल्ले में दो मोटरसाइकिलों पर सवार चार बदमाशों ने दाल व्यापारी सुनील जायसवाल के घर के बाहर हमला बोल दिया था। बदमाश सुनील के हाथ में मौजूद बैगों को लूटना चाहते थे, लेकिन उन्होंने अपनी पत्नी और पुत्र सहित इस लूट का विरोध किया तो बदमाशों ने तीनों पर ताबड़तोड़ गोलियों की बरसात कर दी, जिसमे तीनों लोग मौके पर ही मारे गए थे।

इस मामले में सीतापुर पुलिस की कार्यवाही शुरू से ही सवालों के घेरे में रही और सीएम तक के दबाव के बाद घटना के 12वें दिन एक अपराधी शरीफ को पुलिस ने मीडिया के समक्ष पेश किया। जिसके बाद से आज तक पुलिस किसी भी अन्य शामिल हत्यारे को गिरफ्तार नहीं कर सकी। हालाँकि पुलिस की माने तो इसमें शामिल एक और हत्यारे सूरज यादव ने पुलिस के बढ़ते दबाव के कारण एक अन्य मामले में न्यायालय में सरेंडर कर दिया था। यहां भी सीतापुर पुलिस की किरकिरी हुई क्योंकि पुलिस सूरज को सीधे गिरफ्तार नहीं कर सकी थी।

वहीं आज इस मामले को 3 माह से अधिक का वक्त हो चुका है और तमाम प्रशासनिक दबाव और राजनैतिक हस्तक्षेप के बावजूद भी सीतापुर शहर कोतवाली पुलिस बैकफुट पर नजर आ रही है। 

पीड़ित पुत्रियों ने पिता की दुकान में जड़ा ताला
पिता सहित परिवार के 3 सदस्यों की अकस्मात मौत के बाद कई दिनों तक अपने पिता का व्यापार सँभालने वाली दोनों पुत्रियों ने अब सारी उम्मीद खोकर अपने पिता के व्यापार को बंद कर दिया है। जानकारी है कि पुलिस की अब तक की कार्यशैली से दोनों पुत्रियों सहित सुनील जायसवाल की माँ तक काफी क्षुब्द हैं।

निर्दोषों को अपराधी बनाकर कानून से खिलवाड़ कर रही सीतापुर पुलिस
3 माह के बाद भी एक बड़े हत्याकांड में हत्यारों को पकड़ने में असक्षम रही सीतापुर पुलिस पिछले कई दिनों से निर्दोषों पर एफआईआर लिखने और उनसे मारपीट कर कानून का खिलवाड़ करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। जिसको लेकर आमजन में काफी रोष है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned