यहां की दोनों सीटों पर सपा का कब्जा, भाजपा हारी

यहां की दोनों सीटों पर सपा का कब्जा, भाजपा हारी
sitapur nagar nikay chunav result 2017

Shatrudhan Gupta | Updated: 01 Dec 2017, 06:05:30 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भाजपा की सरकार और जिले में एक सांसद, सात विधायकों के होने के बावजूद भाजपा को यहां की दो सीटों पर करारी शिकस्त खानी पड़ी है।

सीतापुर. सूबे में भाजपा की सरकार और जिले में एक सांसद, सात विधायकों के होने के बावजूद भाजपा को यहां की दो सीटों पर करारी शिकस्त खानी पड़ी है। सीतापुर नगर और खैराबाद में समाजवादी पार्टी के पालिकाध्यक्ष पद के प्रत्याशियों ने भाजपा प्रत्याशियों को मात देते हुए जीत हासिल की। निर्वाचित घोषित होने के बाद मतगणना स्थल से बाहर आये प्रत्याशियों ने जीत का सेहरा आम जनता के नाम बांधा। निर्वाचित प्रत्याशियों ने कहा कि अब शहर का विकास उनकी जिम्मेदारी है। जनता ने जो भरोसा हम पर जताया है, हम उस पर खरे उतरेंगे।

सपा प्रत्याशी के समर्थकों में खुशी का माहौल छा गया

बात सीतापुर नगर पालिका की करें तो यहां चतुष्कोणीय मुकाबले में समाजवादी पार्टी ने 3000 से अधिक वोटों से जीत कर भाजपा के दिग्गजों की साख को हिला कर रख दिया। पहले राउंड के मुकाबले में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के चंचल श्रीवास्तव के आगे होने से एक बात तो साफ हो गयी थी कि परिणाम बेहद हैरान करने वाले सामने आने वाले हैं, लेकिन चौथे राउंड से समाजवादी पार्टी के राधेश्याम जायसवाल के आगे आते ही काउंटिंग कंपाउंड में माहौल बिलकुल बदल सा गया और सपा प्रत्याशी के समर्थकों में खुशी का माहौल छा गया।

तीसरी बार चेयरमैन बन गए राधेश्याम

वहीं चार राउंड के पूरे होत-होते मतपेटियां खाली हो गयीं और सपा के राधेश्याम जायसवाल करीब 6000 वोटों से जीत कर सीतापुर शहर के तीसरी बार चेयरमैन बन गए और उनके परिवार में यह पद चौथी बार पहुंच गया। वहीं खैराबाद में समजवादी पार्टी के जलीस अंसारी ने निर्दलीय प्रत्याशी हनीफ अंसारी को करीब 8000 वोटों से हराया। यहां मुकाबला बिल्कुल साधारण रहा और जलीस अंसारी अपने राजनीतिक कॅरियर का पहला चुनाव जीतने में सफल रहे।

79113 नेताओं का भाग्य तय करेगा यूपी की सियासत

निकाय चुनावों में 16 नगर निगम समेत 198 नगर पालिका परिषद और 438 नगर पंचायतों के प्रमुखों के साथ-साथ पार्षदों/सभासदों के पदों के नतीजे यूपी की सियासत की दिशा तय करेंगे। निकाय चुनावों ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों में चारो खाने चित हुई बसपा और पार्टी सुप्रीमो मायावती को नई ऊर्जा से लबरेज किया है। तीन चरणों में हुए निकाय चुनावों में कुल 79,113 उम्मीदवार चुनावी मैदान में थे। मतगणना सभी 75 जिलों के 334 केंद्रों पर जारी है। गौरतलब है कि तीन चरणों की वोटिंग में कुल मिलाकर 52.50 फीसदी मतदान हुआ था।

11200 टेबल पर 56 हजार कर्मचारी

राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनावी नतीजों को जल्द सामने लाने के लिए पुख्ता इंतजार किए हैं। प्रदेश के 334 मतगणना स्थानों पर 11,200 टेबल पर 56 हजार कर्मचारी मुस्तैद किए गए हैं। मेयर और अध्यक्ष पद के लिए 6 हजार मतगणना टेबल, जबकि पार्षद और सभासदों के पदों के लिए 5,200 टेबल पर गिनती जारी है। चुनाव के नतीजे मतगणनास्थल से ही आयोग की वेबसाइट http://sec.up.nic.in पर अपलोड करने की व्यवस्था है। इसके बाद आयोग की वेबसाइड से प्रमाणपत्र की कॉपी निकालकर आरओ की हस्ताक्षर के बाद वापस वेबसाइट पर स्कैन करके अपलोड करने का इंतजाम पहली मर्तबा हुआ है। मतगणना पर नजर रखने के लिए सभी मतगणना केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसके साथ ही वेबकास्टिंग कराई जा रही है।

वेबसाइट व मोबाइल एप से मिलेंगे सभी नतीजे

राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट http://sec.up.nic.in पर रिजल्ट लाइव देखने की सुविधा भी मिली। इसके अलावा स्टेट इलेक्शन कमीशन यूपी नाम से मोबाइल एप के जरिये भी परिणाम उपल्बध रहे। निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर पार्टी आधारित रिजल्ट के साथ-साथ डैशबोर्ड पर 75 जिलों के पदों का विवरण भी मुहैया मिला। गौरतलब है कि पहले चरण में 52.59 फीसदी, दूसरे चरण में 49.30प्रतिशत और तीसरे चरण में 58.72 मतदान हुआ था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned