श्रम और सेवायोजन की योजनाओं का मंत्री ने किया बखान, कहा- अटल आवासीय विद्यालय में पढ़ेंगे श्रमिकों के बच्चे

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि आज यहां पर ऐसे निर्माण समिति को आमंत्रित किया गया है जिनको विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाना है।

सीतापुर. विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों का श्रमिक जागरूकता एवं हितलाभ वितरण समारोह का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम श्रम सेवायोजन एवं समन्वय विभाग के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में राजकीय इण्टर कालेज मैदान सीतापुर में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों को विभिन्न हित लाभ योजना दिये जाने के साथ-साथ योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी गयी।

सरकार की योजनाओं का मिला लाभ

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि आज यहां पर ऐसे निर्माण समिति को आमंत्रित किया गया है जिनको विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाना है। उन्होंने कहा कि हमारा संकल्प है कि सबका साथ, सबका विकास एवं सबका विश्वास के साथ हम निरन्तर कार्य करते रहें। हम यह भी जानते हैं कि यहां पर बैठे बहुत से लाभार्थी पूर्व में भी प्रधानमंत्री श्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सचांलित विभिन्न योजनाओं का लाभ उठा चुके हैं। उन्होंने कहा कि बहुतों के घर में गैस चूल्हा सिलेण्डर पहुंचा तो बहुतों के घर में शौचालय का निर्माण हुआ होगा। उन्होंने कहा कि बहुत सी ऐसी बस्तियों में जहां अंधेरा छाया हुआ था, वहां पर बिजली पहुंची होगी। उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत से लोग हैं जिनके पास सिर छिपानें की जगह नही थी उनको प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ मिल रहा होगा।

निशुल्क पंजीकरण अभियान

लाभार्थियों को संबोधित करते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य मंत्री ने कहा कि मार्च तक हम निशुल्क पंजीकरण अभियान चला रहे हैं। वहीं, अब श्रमिकों को पंजीकरण कराने के लिए ठेकेदार के प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है। अब सीधा श्रमिक लिखकर दे देगा और हम पंजीकरण कर देंगे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य अधिक से अधिक श्रमिकों के पंजीकरण का है। श्रमिकों के बच्चों को पढ़ाने के लिए तैयारी शुरू कर दी गयी है। उनका नाम अटल आवासीय विद्यालय रखा जाएगा। एक विद्यालय में एक हजार श्रमिकों के बच्चे पढ़ेंगे। इस अवसर पर निर्माण कामगार मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन येाजना तथा निर्माण कामगार अन्त्येष्टि सहायता योजनान्तर्गत 13 लाभार्थी, कन्या विवाह सहायता योजना के 217 लाभार्थी, मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजनान्तर्गत 223 लाभार्थी, चिकित्सा सुविधा योजनान्तर्गत 4811 लाभार्थी, संत रविदास शिक्षा सहायता योजना साइकिल हितलाभ सहित 198 लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned