बच्चा पैदा कराने के लिए रिटायर्ड लेक्चरर उसकी बीवी से करता था अश्लील क्रियाएं, जब नहीं हुई औलाद तो एक रात...

पुलिस के मुताबिक मुकेश ने बताया कि वहां आपत्तिजनक क्रियाएं की जाती थीं। इसके बावजूद जब अंकुल को संतान प्राप्ति नहीं हुई तो...

सीतापुर. तंत्र साधना करने वाले रिटायर्ड शिक्षक कमलेश मिश्रा की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया हैं। पुलिस के मुताबिक संतानोत्पत्ति के मामले में असफलता मिलने के बाद क्षुब्ध होकर रिटायर्ड शिक्षक के ही एक शिष्य के माध्यम से हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया। पुलिस ने उक्त शिष्य के साथ ही सास और दामाद को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक यह महिला अपनी बेटी की संतान प्राप्ति के लिए पिछले दो वर्षों से तंत्र साधना करने वाले शिक्षक के पास जाती थी जहां काफी आपत्तिजनक क्रियाएं की जाती थी।

 

हुई थी निर्मम हत्या

कोतवाली महोली इलाके के मोहल्ला सोनारन टोला में रहने वाले कृषक इंटर कॉलेज के रिटायर्ड शिक्षक कमलेश मिश्रा की शुक्रवार की रात गोली मारकर और फिर चाकू से वार कर निर्मम हत्या कर दी गई थी। उनका शव देर रात मंदिर से घर के रास्ते के बीच पड़ा पाया गया था। पुलिस ने इस ब्लाइंड मर्डर केस के खुलासे की चुनौती स्वीकार करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक डॉ राजीव दीक्षित को कमान सौंपी। उनके नेतृत्व में पांच थानाध्यक्षों की टीमें बनाकर सर्विलांस और स्वाट टीम को भी लगाया गया जिसके बाद पूरे मामले की गहनता से छानबीन शुरू की गई। घटना के बाद पुलिस ने तंत्र साधना में शिष्य के तौर पर कमलेश मिश्रा के साथ रहने वाले मुकेश शुक्ला को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने कई सनसनीखेज खुलासे किये जिसके आधार पर घटना का अनावरण हुआ और उसी के द्वारा इस वारदात को अंजाम देने का जुर्म इकबाल किया गया। पुलिस ने उसके बयानों के आधार पर रिश्ते में मौसी लगने वाली महिला शालू और उसके दामाद अंकुल मिश्रा को भी इस मामले में गिरफ्तार किया है।

 

पुलिस ने किया खुलासा

एसपी आर.पी. सिंह ने खुलासे में बताया कि कमलेश मिश्रा के शिष्य मुकेश शुक्ला ने ही हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। हत्या के कारण पर रोशनी डालते हुए उन्होंने बताया कि शालू नामक महिला रिश्ते में मुकेश की चाची और मौसी दोनो ही है। शालू की बेटी अंकुल मिश्रा को ब्याही है यानी कि अंकुल शालू का दामाद है। अंकुल की शादी के छह वर्ष बीत चुके हैं किंतु उसके कोई संतान नहीं है। शालू ने अपनी बेटी के संतान प्राप्ति के मुकेश के माध्यम से तांत्रिक और रिटायर्ड शिक्षक कमलेश मिश्रा से संपर्क किया और पिछले करीब दो वर्षों से वह कमलेश द्वारा श्मशान घाट के पीछे बनवाये गये साधना स्थल काली मंदिर में जाती थी। पुलिस के मुताबिक मुकेश ने बताया कि वहां आपत्तिजनक क्रियाएं की जाती थीं। इसके बावजूद जब अंकुल को संतान प्राप्ति नहीं हुई तो उसने तांत्रिक शिक्षक को मौत के घाट उतारने की योजना बनाई और खुद लोकेशन बदलने के लिए दिल्ली रवाना होकर हत्या की वारदात को मुकेश के माध्यम से अंजाम दिलाया। पुलिस ने इस पूरी घटना का खुलासा करते हुए मुकेश शुक्ला, उसकी मौसी शालू और शालू के दामाद अंकुल मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार अंकुल अपराधी किस्म का व्यक्ति है और उसके विरुद्ध पहले से थाने में कई अभियोग पंजीकृत हैं।

 

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned