यूपी पुलिस ने किसान को धमकाया, रैली के दौरान पुलिस ने किसान नेता को छज्जा गिराने की दी धमकी

इस प्रदर्शन के दौरान जब किसान सड़कों पर आ गए तो किसान नेता भूपिंदर सिंह सिद्धू से पुलिस की नोकझोक भी हो गयी।

सीतापुर. किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान उस वक़्त अफरा तफरी मच गई जब पुलिस महकमे के अधिकारियों ने किसान नेता को धमकी दे डाली। रैली के दौरान आग बबूला शहर कोतवाल और सीओ सिटी ने प्रदर्शन न खत्म करने पर किसान नेता को धमकाया और उसका छज्जा गिरवाने की भी धमकी दे डाली। पुलिस के इस रवैये से नाराज किसान उग्र हो गए और हंगामी प्रदर्शन करते हुए जमकर नरेबाजी भी की। अधिकारियों के मान मनौवल के बाद किसानों ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपकर अपना प्रदर्शन खत्म कर दिया। पुलिस के रवैये के वीडियो सामने आने के बाद एसपी ने पूरे मामले की जांच एडिश्नल एसपी उत्तरी को सौंप दी हैं।

सड़क पर उतरे किसान

इस प्रदर्शन के दौरान जब किसान सड़कों पर आ गए तो किसान नेता भूपिंदर सिंह सिद्धू से पुलिस की नोकझोक भी हो गयी। इस नोकझोक दौरान पुलिस के अधिकारी आगबबूला हो गए। शहर कोतवाल तेज प्रताप सिंह और सीओ सिटी पीयूष कुमार ने किसान नेता को धमकाना शुरू कर दिया यह भी कह डाला कि अगर किसान सड़कों से नही हटे तो तुम्हारा छज्जा तक गिरवा दूंगा। शहर कोतवाली क्षेत्र के बस स्टॉप के समीप का हैं। यहां प्रदेश व्यापी किसान आंदोलन के तहत सीतापुर के विभिन्न हिस्सों से किसान ट्रैक्टर रैली में शामिल होने आये थे।

किसान कानून वापस लेने की मांग

इस रैली को रोकने और रैली से आम जनता को परेशानी न होने के चलते जिला प्रशासन ने भारी पुलिस बल तैनात किया था और बैरिकेटिंग कर किसानों को एक फील्ड तक ही सीमित रखने का प्लान तैयार किया था। हजारों की संख्या में एकत्रित किसानों ने रैली निकालकर हंगामी प्रदर्शन किया और किसान बिल विरोधी जमकर नारेबाजी भी की। इस दौरान किसानों ने किसान कानून को किसान विरोधी बताते हुए कानून को वापस लेने की मांग को लेकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को भी सौंपा।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned