इस विवाह में बाराती और सराती होंगे डिजिटली शामिल, उपहार राशि पीएम केयर फंड में

(Bihar News ) कोरोना ने जीवन (Unique marriage ) के प्रति नजरिया ही बदल (Changed vision of marriage ) दिया है। इसका सीधा असर आपसी रिश्तों के (Digital marriage ) अलावा सामाजिक रीति-रिवाजों पर (Marriage gift cast in pm fund ) पड़ रहा है। विवाह जैसे अतिमहत्वपूर्ण कार्यक्रमों पर भी कोरोना का असर देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि नौबत अब डिजीटल विवाह तक आ गई है।

By: Yogendra Yogi

Published: 29 Jun 2020, 11:28 PM IST

सिवान(बिहार): (Bihar News ) कोरोना ने जीवन (Unique marriage ) के प्रति नजरिया ही बदल (Changed vision of marriage ) दिया है। इसका सीधा असर आपसी रिश्तों के (Digital marriage ) अलावा सामाजिक रीति-रिवाजों पर (Marriage gift cast in pm fund ) पड़ रहा है। विवाह जैसे अतिमहत्वपूर्ण कार्यक्रमों पर भी कोरोना का असर देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि नौबत अब डिजीटल विवाह तक आ गई है। डिजिटल विवाह में बाराती और सराती भी डिजिटल रूप से ही शाामिल होंगे। ऐसा ही एक दिलचस्प मामला जिले के बड़हरिया प्रखंड के सुदंरी गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है। इतना ही यह विवाह सिर्फ डिजिटल होने के लिए चर्चा में नहीं बल्कि कोरोना काल में देश के लिए कुछ करने के जज्बे के लिए भी चर्चा में हैं। वर-वधु पक्ष ने तय किया उपहारस्वरूप जो राशि देना चाहे वह सीध पीएम केयर फंड में जमा करा दे।

बाराती-सराती होंगे डिजिटली शामिल
इस गांव के दीनेश्वर पांडेय के पुत्र संदीप पांडेय का विवाह गोपालगंज के सिध्वलिया थाना क्षेत्र के शेर गांव निवासी अरविन्द की पुत्री जिज्ञासा से तय हुआ। विवाह की तारीख ३० जून तय की गई। दरअसल विवाह तो पहले ही तय हो गया था। यह भी परंपरागत रीति-रिवाजों से होना था, किन्तु इस बीच में कोरोना के फैलाव से सारा सिस्टम बदलना पड़ गया। दुल्हा संदीप आईटी एक्सपर्ट है। अत: यह तय हुआ कि विवाह डिजिटल तकनीक के जरिए किया जाए। इसमे चुनिंदा परिवार जनों को छोड़ कर सभी को निमंत्रण डिजिटल कार्ड के जरिए भेजा गया। वर और वधु पक्ष ने बाराती और सराती सभी से डिजिटली शामिल होकर आर्शीवाद देने का अनुरोध किया।

विवाह की रस्में भी डिजिटल पर
डिजिटल विवाह में शामिल होने की प्लानिंग दुल्हे संदीप और दुल्हन जिज्ञासा ने सहमति से की। विवाह की तमाम रस्में भी डिजिटल के जरिए अदा की जा रही है। शादी के लिए ऑनलाइन निमंत्रण बंट रहा है। जिस पर शादी में शामिल होने के लिए फेसबुक पेज का एड्रेस और समय दिया गया है। डिजिटल शामिल करने का निमंत्रण इसलिए भी दिया गया कि दोनों पक्षों की तरफ से यह समस्या खड़ी हो गई कि किसे बुलाएं और किसे छोड़े। इसलिए यह निर्णय लिया गया कि सभी को शामिल होने के निमंत्रण तो दें किन्तु उपस्थिति डिजिटल के जरिए करवाई जाए।

उपहार राशि पीएम केयर फंड में
विवाह में दिए जाने वाले कन्यादान और दुल्हे के उपहारों के लिए डिजिटल से मिली राशि ही मान्य होगी। इस मामले में संदीप और उसकी होने वाली पत्नी एक कदम बढ़ाते हुए आदर्श कायम कर दिया। दोनों पक्षों के लोगों ने तय किया कि जो भी उपहार देना चाहे वे नकदी के तौर उस राशि को पीएम केयर फंड में जमा करा दें और इसकी जानकारी संबंधित पक्ष को डिजिटल के माध्यम से दे दें। कोरोना काल में यह निर्णय साहस भरा ही माना जाएगा हजारों-लाखों रूपए के उपहार व नकदी का देश सेवा में लगाया जाए।

Show More
Yogendra Yogi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned