5 लाख के मुफ्त इलाज का टूटा भरम, आयुष्मान भारत कार्डधारक से सरकारी अस्प्ताल में वसूले 11 हजार 500 रुपये

5 लाख के मुफ्त इलाज का टूटा भरम, आयुष्मान भारत कार्डधारक से सरकारी अस्प्ताल में वसूले 11 हजार 500 रुपये
'आयुष्मान भारत' कार्ड धारक से वसूली

Mohd Rafatuddin Faridi | Updated: 11 Jul 2019, 03:16:12 PM (IST) Sonbhadra, Sonbhadra, Uttar Pradesh, India

  • सोनभद्र के जिला अस्पताल में बेटी के ऑपरेशन के लिये गए बुजुर्ग से लिये गए रुपये।
  • मामला सामने आने के बाद अब सीएमएस कह रहे हैं कि शिकायत पर करेंगे कार्रवाई।
  • मरीज द्वारा दिये गए साढ़े 11 हजार रुपये उसे वापस कराने का दिलाया भरोसा।

सोनभद्र . प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना ‘आयुष्मान भारत योजना’ की शुरुआत की। इस योजना के तहत पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज का इंतजाम किया गया है। पर क्या हर एक को योजना का लाभ मिल पा रहा है। उसे मुफ्त इलाज मुहैया रहा है? शायद सबको नहीं। कई बार ऐसे मामले सामने आए हैं जब कार्डधारक को या तो इलाज से मना किया गया, या फिर उनसे रुपये वसूले गए या मांगे गए। यूपी के सोनभद्र में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है। यहां आयुष्मान कार्ड धारक से आपरेशन के नाम पर जिला अस्पताल में 11 हजार 500 रुपये ले लिये गए। याद रहे कि जिला अस्प्ताल सरकारी अस्पताल होता है। पीड़ित कार्डधारक का दावा है कि इतने रुपये देने के बावजूद उससे अभी भी और रुपयों की डिमांग की जा रही है। मामला खुला तो सीएमएस ने मरीज से लिखित शिकायत ले ली है और अब पैसे वापस करवाने की बात कह रहे हैं।

पिता को बचाने कुएं में उतरे बेटे की मौत, जहरीली गैस से पिता की हालत गंभीर

 

 

सोनभद्र के हाथीनाला क्षेत्र से एक बुजुर्ग राम भजन अपनी बेटी को इलाज के लिये एक जुलाइ से जिला अस्पताल के आर्थोपेडिक वार्ड में भर्ती कराया। उसके पास आयुष्मान कार्ड है सो समझा कि इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाएगी, लेकिन राम भजन का ये भरम जल्द ही टूट गया। राम भजन जब अपना मरीज लेकर जिला अस्पताल पहुंचे तो वहां के दलाल सक्रिय हो गए। मरीज के पैर में रॉड डलवाने के एवज में बुजुर्ग राम भजन से 11 हजार 500 रुपये वसूल लिये गए। इतना ही नहीं मरीज के परिजनों का दावा है कि अभी भी उनसे 4000 रुपये की डिमांड की जा रही है।

इसे भी पढ़ें

यूपी की इस सीट पर हो रहा है बैलेट पेपर से उपचुनाव, सिर्फ तीन प्रत्याशी मैदान में

जब मामला जिला अस्पताल के सीएमएस प्रेम बहादुर गौतम तक पहुंचा तो उन्होंने वार्ड में जाकर मरीज से पूरे मामले की जानकारी ली। मरीज से लिखित शिकायत लेकर कार्रवाई की बात कही। सीएमएस ने कहा है कि मरीज या उसके परिजन की शिकायत पर सख्त कार्रवाई की जाएगी, जो रुपये उन्होंने दिये हैं वह उनको वापस करवा देंगे।

By Santosh

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned