मकर संक्रांति उत्सव में दिखा आदिवासी करमा नृत्य

सेवाकुंज आश्रम के वनवासी समागम में दिखा करमा नृत्य की झलक

By: ज्योति मिनी

Published: 15 Jan 2018, 06:40 PM IST

सोनभद्र. जिले के दुरूह व सूबे के आखिरी थाना बभनी क्षेत्र के चपकी के सेवा समर्पण संस्थान सेवाकुंज आश्रम कारीडांड में मकर संक्रांति उत्सव आदिवासी, वनवासी जनजाति समागम बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। इस कार्यक्रम में एक से बढ़कर एक लोकनृत्य, सैलानृत्य, कर्मानृत्य, एकल गीत की प्रस्तुति की गई। नृत्य कर रहे लोगों ने कमर में मोटे मोटे घुंघरू, पांव में मोटे मोटे रॉड से बने जो पायल की भांति आवाज निकालते है पैरी पहना हुआ था। मोर के पंख से सुसज्जित होकर भी लोग लोकनृत्य कर रहे थे। सेवाकुंज आश्रम में सोनभद्र के अलावा मीरजापुर, इलाहाबाद, वाराणसी, गोरखपुर, के अलावा, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे और सभी ने मकर संक्रांति पर्व का लुत्फ़ उठाया।

इस कार्यक्रम में भारतीय संस्कृति के अधार पर लोकविधा, आदिवासी संस्कृति के रूप में मकर संक्रांति का पर्व मनाया गया। बतादें कि, सेवा आश्रम आदिवासी, बनवासी बच्चों को प्रकल्प पर निःशुल्क शिक्षा देती है। 18वीं वर्षगांठ मना रहा सेवा समर्पण संस्थान के अध्यक्ष राम पाठक ने मकर संक्रांति पर्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस आश्रम में 400 बच्चों के लिए हास्टल बनवाया जा रहा है ताकि प्रत्येक प्रांत के दस-दस बच्चों को इस प्रकल्प से जोडा जा सके। सदर विधायक भूपेश चौबे ने कहा कि गांव गरीबो के निरंतर विकाश के लिए प्रयास करता रहूंगा।

आश्रम की खासियत

इस आश्रम में गरीब आदिवासी, वनवासियों के 200 बच्चे पढ़ते व यही पर रहते हैं। यह आश्रम कक्षा आठ तक के बच्चों को सभी तरह की शिक्षा देता है। यही से निकल कर एक बच्चा अंतराष्ट्रीय स्तर पर, एक बच्चा सूबे में तीरंदाजी में जनजाति का प्रतिनिधित्व कर रहा है इसके अलावा परमाणु ऊर्जा विभाग में एक, डॉक्टर एक, ईजिंनियर एक, जूनियर इंजिनियर चार, फ़ोर्स में आठ बच्चे गअ है।

कार्यक्रम में आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृपा शंकर सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष अशोक मिश्रा, सांसद छोटेलाल खरवार, ओबरा विधायक संजय गोंड, दुद्धि विधायक हरिराम चेरो, संरक्षक विरेन्द्र नारायण शुक्ल, क्षेत्रीय संगठन मंत्री मनीराम पाल, संगठन मंत्री आनन्द, विभाग संगठन मंत्री श्रवण, रामकेत वैसवार उपस्थित हुए, कार्यक्रम की सफलता के लिए श्रवण का बहुत बड़ा योगदान माना जाता है।

input- जितेंद्र गुप्ता

ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned