सोनभद्र नरसंहार का रोंगटे खड़े कर देने वाला वीडियो!, गोलियों की तड़तड़ाहट और मारो-मारो के बीच गिड़गिड़ाती महिलाएं

सोनभद्र नरसंहार का रोंगटे खड़े कर देने वाला वीडियो!, गोलियों की तड़तड़ाहट और मारो-मारो के बीच गिड़गिड़ाती महिलाएं
सोनभद्र हत्याकांड का वायरल वीडियो

Mohd Rafatuddin Faridi | Updated: 23 Jul 2019, 01:25:27 PM (IST) Sonbhadra, Sonbhadra, Uttar Pradesh, India

17 जुलाई को सोनभद्र के उम्भा गांव में जमीन पर कब्जे के लिये 10 आदिवासियों की बेरहमी से हत्या कर दी गयी थी।

सोनभद्र हत्याकांड के बाद वायरल हुए इस वीडियो की सत्यता की पुलिस करा रही है जांच।

सोनभद्र. यूपी के सोनभद्र में 17 जुलाई को जो कुछ भी हुआ उसे सुनकर पूरा देश दहल गया। कैसे जमीन पर कब्जे के लिये 300 आदमी लेकर पहुंचे प्रधान के हथियारबंद लोगों ने आदिवासियों का सीना गोलियों से छलनी कर दिया। इस घटना में 10 की मौत हो गयी, जबकि दो दर्जन से अधिक गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जिस हत्याकांड का सिर्फ जिक्र सुनकर लोग दहल उठे थे अब उसका खौफनाक मंजर सामने आया है। हत्याकांड के समय के कुछ कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिनमें साफ दिख रहा है कि कैसे किसी फिल्म की तरह ट्रैक्टर ने लाइन से चारों ओर से घेर रखा है और असलहों से लैस लोग संभवत: आदिवासियों को पीट रहे हैं। कुछ लोग वीडियो में जमीन पर पड़े दिख रहे हैं तो गोलियां चलने की आवाजें भी आ रही हैं, और साथ ही महिलाओं की चीख-पुकार जैसी रोंगटे खड़े कर देने वाली आवाजें भी आ रही हैं। इन वायरल वीडिये की पत्रिका किसी भी तरह से पुष्टि नहीं करता। सोनभद्र के एसपी ने भी कहा है कि वायरल वीडियो उन्होंने देखे हैं और इसकी सच्चाई पता लगायी जा रही है।

 

 

17 जुलाई बुधवार को मूर्तिया ग्राम पंचायत के प्रधान और सपही गांव निवासी यज्ञदत्त भुरतिया अपने भाइयों और रिश्तेदारों के साथ मिलकर उम्भा गांव की करीब 125 बीघा जमीन पर कब्जे के लिये 30 ट्रैक्टर में 300 आदमी लेकर पहुंच गया। उसके साथ हथियारबंद आदमी भी थे। जमीन पर कब्जे का विरोध करने पर यज्ञदत्त के आदमियों ने आदिवासियों पर किया, जिसमें 10 आदिवासियों की बेरहमी से हत्या कर दी गयी, जबकि दो दर्जन को इतनी बुरी तरह से पीटा गया कि वो अधमरे हो गए।

 

अब इस घटना के समय का जो कथित वायरल वीडियो सामने आया है उसमें दिखायी दे रहा है कि जमीन के बड़े से हिस्से को चारों ओर से ट्रैक्टर की कतारों ने घेर रखा है। वीडियो संभवत: किसी महिला या लड़की ने बनाया है, जो यह कहते भी सुनी जा रही है कि ‘कौन त बंदूक निकालके मारे हैं’। एक दूसरे वीडियो में खेत में ढेर सारे लोग लाठियों से कुछ लोगों को पीट रहे हैं। ‘मारो सबको’ की आवाज के साथ गोली चलने की आवाजें आती हैं। महिलाओं की चीख-पुकार सुनायी देती है। खौफ से सहमी हुई महिलाएं भागती हैं और आवाज भी आती है ‘भाग रे’ व ‘अरे दादा’। एक महिला किसी मोबाइल लिये व्यक्ति से संभवत: पुलिस को फोन लगाने के लिये गिड़गिड़ाती है एक भइया ‘जल्दी से फोन कर’। मोबाइल लिया व्यक्ति संभवत: फोन लगाता है, लेकिन उसका नेटवर्क शायद नहीं मिल रहा होता है।

 

हालांकि यह वीडियो सही है या नहीं इसकी जांच पुलिस अपने तौर पर कर रही है। लेकिन अगर यह जांच में सही निकलता है तो वीडियो की विभत्सता देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि वहां उस वक्त कैसे खौफनाक हालात रहे होंगे। किस तरह लोगों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया होगा और गोलियां मारी गयी होंगी। पत्रिका ने जब ग्राउंड रिपोर्ट की थी तो एक गांव वाले ने बताया था कि उनके एक रिश्तेदार पुलिया के नीचे पाइप में घुस गए तो दोनों ओर से लाठी कोंच-कोंचकर उन्हें निकाला गया। उन्होंने निकलकर भागने की कोशिश की तो खेत में गिराकर इतना मारा गया कि वह मर गए।

By Santosh

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned