दो लाख लोगों की मेहनत देख डीएम ने लिया ये फैसला, जनपद का नाम गिनीज बुक में दर्ज करवाने की अपील

पश्चिम बंगाल के नाडिया में 122.3 कि0मी0 लम्बी मानव श्रृंखला 21 फरवरी, 2015 को 2 लाख 17 लोगों ने किया था प्रतिभाग...

 

By: ज्योति मिनी

Published: 26 Jan 2018, 04:15 PM IST

सोनभद्र. आगामी दो फरवरी को आयोजित होने वाली तीन लाख मानव श्रृंखला के सफलता के लिए जिलाधिकारी ने आम जनता से अपील की। कहा कि, गिनीज बुक में जनपद का नाम दर्ज कराना है।

आगे कहा कि, साफ-सफाई अभियान के दौरान अगर सोनभद्र जिले का नाम गिनीज बुक में स्वच्छता मानव श्रृंखला के क्षेत्र में दर्ज हों तो जन जागरूकता के साथ ही जिले का नाम भी रौशन होगा। लिहाजा पंचायत राज विभाग के साथ ही शिक्षा, स्वास्थ्य, बाल विकास, राजस्व विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ ही अन्य सम्बन्धितों का सकारात्मक सहयोग जरूरी है।

उपाध्याय ने अपनी अनोखी पहल के तहत आगामी 02 फरवरी, 2018 को लगभग तीन लाख नागरिकों के हिस्सेदारी से आयोजित होने वाली 130 कि0मी0 लम्बी स्वच्छता मानव श्रृंखला की तैयारी बैठक में कहीं। जिलाधिकारी ने कहा कि, साफ-सफाई से इंसान के पास बीमारी नहीं आती और जब इंसान स्वस्थ होगा, तो यकीनन स्वस्थ्य समाज की स्थापना होगी। उन्होंने कहा कि, मानव श्रृंखला की देश मे पश्चिम बंगाल के नाडिया में 122.3 कि0मी0 लम्बी मानव श्रृंखला 21 फरवरी, 2015 को 2 लाख 17 हजार सहभागियों के द्वारा गिनीज बुक में दर्ज है।

उन्होंने पंचायत राज अधिकारी के साथ ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा0 गोरखनाथ पटेल, जिला विद्यालय निरीक्षक राजशेखर सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुजीत सिंह सहित जिले के विभिन्न अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि, आगामी 2 फरवरी, 2018 को सोनभद्र जिले का नाम मानव श्रृंखला आयोजित करने के क्षेत्र में सुनहरे अक्षरों में दर्ज करने के लिए पूरी तत्परता के साथ लगकर 2 फरवरी, 2018 का दिन ऐतिहासिक बनाए।


लोक निर्माण विभाग द्वारा 1 कि0मी0 से लेकर 130 कि0मी0 तक की मार्किंग ऐतिहासिक मानव श्रृंखला के लिए की जाएगी। हर कि0मी0 पर एक यानी कुल 130 बूथ अधिकारी होगें और इसी प्रकार से हर 5 कि0मी0 पर एक सेक्टर अधिकारी यानी 26 सेक्टर अधिकारी होंगें और 2-2 सेक्टर के हिसाब से एक जोनल अधिकारी यानी कुल 13 जोनल अधिकारी होंगे।

इस प्रकार से ऐतिहासिक मानव श्रृंखला को 13 जोन व 26 सेक्टर तथा 130 बूथों के माध्यम से आयोजित किया जाएगा। मानव श्रृंखला में स्वच्छता निगरानी समिति, खुले में शौच मुक्त/ओडीएफ के निगरानी समिति के सदस्यगण, स्कूली बच्चें, प्रबुद्धजन, गणमान्य नागरिक, जनप्रतिनिधिगण, स्वयंसेवी संगठनो के प्रतिनिधिगण, मीडिया के पदाधिकारी के साथ ही आम नागरिकों की सहभागिता रहेगी।

input- जितेंद्र गुप्ता

ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned