बचकर रहिए, भौंरों के काटने से भी हो सकती है मौत, दादा-पोते की गयी जान, कई अन्य गम्भीर

यूपी के सोनभद्र में भौंरों के काटने से दादा और पोते की मौत हो गई, जबक सात लोगों का इलाज अस्प्ताल में चल रहा है। सभी लोग पिकनिक मनाने जा रहे थे इसी दौरान एक पेड़ के नीचे आराम करने के दौरान भौंरों ने हमला कर दिया।

सोनभद्र. फूलों के इर्दगिर्द मंडराने वाले भैंराें (भंवरा) से बचकर रहिये। भैंरा अगर काट ले तो मौत भी हो सकती है। जी हां ये सच है। यूपी के सोनभद्र में भौराें के काटने से दादा और पोते की मौत हो गई, जबकि सात लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। सभी का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। सभी लोग पिकनिक मनाने नगवां बांध की ओर जा रहे थे। पेड़ के नीचे खड़े होकर सुस्ताने लगे तो इसी दौरान भौरों ने हमला बोल दिया, जिसमें एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसके वृद्घ दादा ने घर पहुंचकर दम तोड़ दिया। बाकियों की हालत खराब होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

 

रायपुर थानान्तर्गत सेमरिया गांव निवासी रोहित लाल अपनी पत्नी देवन्ती, दामाद कृष्ण कुमार, बेटी प्रतिभा व सौरभ (12 वर्ष), सूरज (7 वर्ष), रानी (4 वर्ष) और दीपेन्द्र (10 वर्ष) के साथ नगवां बांध पिकनिक मनाने जा रहे थे। बिछियां के जंगल में पहुंचने पर एक कदम्ब के पेड़ के नीचे रुककर आराम करने लगे। इसी दौरान भौरों ने हमला बोल दिया। भौरों के काटने से सभी लोग बुरी तरह से घायल हो गए और दर्द से कराहने लगे। घरवाले पहुंचे और सभी को अस्प्ताल ले जाया गया। इलाज के दौरान दीपेन्द्र (10 वर्ष) की मौत हो गई, जबकि उसके दादा रोहित लाल की भी सुबह में मौत हो गई। शेष सात लोगों का इलाज राॅबर्ट्सगंज स्थित जिला अस्पताल में चल रहा है। उधर सीएमएस प्रेम बहादुर गौतम का कहना है कि बाकियों की हालत में सुधार है।

By Santosh Jaiswal

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned