राजीव गांधी और इंदिरा गांधी ट्रस्ट को आवंटित जमीनों की जांच शुरू

हरियाणा में राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट को हरियाणा में आवंटित जमीन के रिकॉर्ड खंगालने का काम शुरू हो गया है।

By: Bhanu Pratap

Published: 30 Jul 2020, 09:41 PM IST

सोनीपत/चंडीगढ़। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के आदेश पर हरियाणा में बीजेपी और जेजेपी सरकार ने राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट को हरियाणा में आवंटित जमीन के रिकॉर्ड खंगालने का काम शुरू हो गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बीते दिनों इन ट्रस्ट को देश भर में आवंटित जमीनों का रिकॉर्ड जुटाने के लिए कमेटी गठित की है। हाल ही में राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन के दूतावास से फंड मिलने का खुलासा होने के बाद तीनों ट्रस्ट को देश भर में आवंटित जमीनों की भी जांच शुरू की गई है।

रॉबर्ट वाड्रा-डीएलएफ डील सवालों के घेरे में

हरियाणा में 2004 से 2014 तक कांग्रेस सत्ता थी। आशंका है कि इन ट्रस्ट को हरियाणा में भी खास लोकेशन पर एनसीआर व अन्य जगह जमीनें आवंटित की गई होंगी। केंद्रीय कमेटी के रिकॉर्ड तलब करने पर सरकार ने तीनों ट्रस्ट को दी जमीनों की जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। हरियाणा सरकार के पास प्राथमिक सूचना है कि गुरुग्राम में कांग्रेस से जुड़े ट्रस्ट को जमीन आवंटित हुई है। रॉबर्ट वाड्रा-डीएलएफ डील को लेकर भी कांग्रेस सवालों के घेरे में रही है।

मुख्य सचिव ने जारी किया पत्र

हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एसएन राय को पत्र लिखकर जल्द से जल्द प्रदेश में तीनों ट्रस्टों को दी गई जमीन के बारे में रिकॉर्ड सहित बताने को कहा है। मुख्य सचिव ने पूछा है कि क्या इन ट्रस्ट को प्रदेश में कोई जमीन दी गई है। अगर दी गई है तो कहां-कहां व कितनी जमीन मिली है। शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एसएन राय ने विभाग के तमाम अधिकारियों को पूरे प्रदेश में जल्द से जल्द जानकारी मुहैया कराने के आदेश दे दिए हैं।

BJP Congress
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned