कॉलेज में घुस टीचर के सीने में स्टूडेंट ने उतारी 4 गोली

उपमंडल खरखौदा के गांव पीपली में छात्र ने कॉलेज में घुसकर प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या कर दी.

By: शंकर शर्मा

Published: 13 Mar 2018, 11:03 PM IST

सोनीपत। उपमंडल खरखौदा के गांव पीपली में छात्र ने कॉलेज में घुसकर प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात अंजाम देने के बाद आरोपी छात्र फरार हो गया। दिन दहाड़े सरेआम टीचर की हत्या से कॉलेज में दहशत फैल गई। पिपली गांव के शहीद दलबीर सिंह राजकीय महाविद्यालय में मंगलवार को एक बीए के स्टूडेंट ने लेक्चरर की गोली मारकर हत्या कर दी। स्टूडेंट ने लेक्चरर को 4 गोलियां मारी और फरार हो गया।

पुलिस ने आरोपी स्टूडेंट की पहचान कर ली है, वह कॉलेज का ही ग्रेजुएशन का स्टूडेंट है। अभी ये सामने नहीं आया है कि स्टूडेंट ने ये कदम क्यों उठाया। पुलिस ने आरोपी छात्र के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस के अनुसार सोनीपत के सेक्टर-23 में रहने वाले राजेश मलिक खरखौदा के पिपली में स्थित शहीद दलबीर सिंह राजकीय महाविद्यालय में अंग्रेजी के लेक्चरर थे।

मंगलवार की सुबह करीब 9 बजे वे कॉलेज के अंदर स्टेनो रूम में बैठे हुए थे। इसी दौरान एक स्टूडेंट वहां आया और उनपर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। उन्हें 4 गोलियां लगी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। कॉलेज के प्रिंसिपल रवि प्रकाश का कहना है कि प्रोफेसर राजेश मलिक कॉलेज में स्टेनो रूम में बैठे थे। इस दौरान तभी एक स्टूडेंट वहां आया और उसने राजेश मलिक पर फायरिंग शुरू कर दी। जब तक स्टॉफ का कोई सदस्य वहां पहुंचता, तब तक आरोपी फरार हो चुका था। स्टाफ सदस्यों ने उन्हें संभाला, लेकिन उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटनास्थल पर पहुंचे एसएचओ वजीर सिंह का कहना है कि पुलिस ने आरोपी की पहचान कर ली है। वह स्कूल का ही ग्रेजुएशन का स्टूडेंट है। प्रोफेसर के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सोनीपत के सिविल अस्पताल भिजवा दिया है।

एएसपी डी.के. भारद्वाज ने बताया कि राजेश नामक प्रोफेसर की गोली मार कर हत्या कर दी गई है। हत्या को अंजाम क्यो दिया गया, अभी ये साफ नहीं हो पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने स्टूडेंट को गिरफ्तार करने के लिए टीमों का गठन कर दिया है। पुलिस ने आरोपी छात्र के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया।

बेटी के सामने पिता की मौत
कॉलेज के प्रिंसिपल रवि प्रकाश का कहना है कि लेक्चरर राजेश कॉलेज में स्टेनो रूम में बैठे थे। इस दौरान उनकी बेटी भी साथ में थी। तभी एक स्टूडेंट वहां आया और उसने राजेश पर फायरिंग शुरू कर दी। जब तक स्टॉफ का कोई सदस्य वहां पहुंचता, तब तक आरोपी फरार हो चुका था। राजेश की बेटी और स्टाफ के दूसरे सदस्यों ने उन्हें संभाला लेकिन उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned