पत्नी के दुकान संभालने को लेकर अपशब्द बोलने पर की थी हत्या

- लकड़ी बेचने वाले दुकानदार की चाकू से गोदकर हत्या प्रकरण
- खून से सना चाकू बरामद, आरोपी रिमाण्ड (Accused on Police Custody) पर

Vikas Choudhary

Updated: 17 Jul 2019, 07:39 PM IST

स्‍पेशल

जोधपुर.
राजीव गांधी कॉलोनी (rajiv gandhi colony) में प्यारे मोहन चौराहे के समीप लकड़ी बेचने वाले एक दुकानदार ने पत्नी के दुकान पर काम करने को लेकर छींटाकशी व अपशब्द बोलने के कारण पड़ोसी दुकानदार की चाकू से गोदकर हत्या की थी। देवनगर थाना पुलिस (police station devnagar) ने उससे वारदात में प्रयुक्त खून से सना चाकू बरामद किया।
पुलिस के अनुसार प्रकरण में गिरफ्तार राजीव गांधी कॉलोनी निवासी प्रवीण घांची पुत्र प्रेमाराम राठौड़ को बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे दो दिन के रिमाण्ड (Accused on Police Custody) पर भेजने के आदेश दिए गए। इससे पहले आरोपी के पकड़ में आने पर तलाशी के दौरान ही कपड़ों में छुपाकर रखा छोटा सा खटकेदार चाकू बरामद किया गया। वह खून से सना था।
अब तक की पूछताछ व जांच में सामने आया कि मृतक सत्यनारायण गौड़ व आरोपी प्रवीण घांची की लकड़ी की टाल है। जो आमने-सामने हैं। प्रवीण की दुकान अधिकांशत: पत्नी संभालती है। इसको लेकर सामने वाला दुकानदार सत्यनारायण छींटाकशी व ताने मारता था। प्रवीण को पत्नी की कमाई खाने वाला बताता था। दोनों में व्यवसाय को लेकर प्रतिस्पर्धा भी थी। इस बीच, मंगलवार शाम करीब पौने पांच बजे सत्यनारायण ने कुछ अपशब्द कहे। दुकान पर बैठे प्रवीण घांची ने सुना तो वह आवेश में आ गया। वह खटकेदार चाकू लेकर आया और सत्यनारायण के पास जाकर झगड़ा करने लगा।
दोनों गुत्थम-गुत्था हो गए। सत्यनारायण को नीचे गिराकर प्रवीण ने चाकू निकाला और गर्दन, दिल के पास, पेट व कमर के पास आठ वार कर दिए। उसके खून बहने लगा और वह पास स्थित पार्षद कार्यालय के बाहर जमीन पर गिर गया। मौके पर ही उसकी मृत्यु हो गई थी।
दुकानदार की हत्या के बाद आरोपी ने चाकू जेब में डाला और कुछ दूर पैदल जाने के बाद किसी परिचित की मोपेड पर बैठ भाग निकला था। जिसे बाद में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। मृतक के पुत्र सूरज की तरफ से हत्या का मामला दर्ज किया गया है। थानाधिकारी मंजू चौधरी जांच कर रही है।
मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम
उधर, मथुरादास माथुर अस्पताल में मेडिकल बोर्ड गठित कर शोभावतों की ढाणी निवासी मृतक सत्यनारायण के शव का पोस्टमार्टम कराया गया। जिसे पुत्र को सौंप दिया गया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned