कम्युनिटी संक्रमण वाले क्षेत्रों में अधिक फोकस कर सेंपलिंग कराएं- जिला कलक्टर

बाजार क्षेत्र में कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें

By: Prem Pathak

Published: 20 Jul 2020, 11:14 PM IST

अलवर. जिला कलक्टर आनन्दी ने कहा कि जहां कम्यूनिटी संक्रमण फैलने की ज्यादा संभावना है, उस क्षेत्र पर अधिक फोकस कर अधिकाधिक लोगों की सेंपलिंग कराने की जरूरत है।

जिला कलक्टर सोमवार को कोर ग्रुप की बैठक में अधिकारियों से फ ीडबैक लेकर निर्देश दे रही थीं। उन्होंने अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर को पुलिस जाब्ता के साथ भीड़भाड़ वाले बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने, चेहरे पर मास्क नहीं लगाने, सेनेटाइज नहीं मिलने पर दुकानदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर जुर्माना करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि होप सर्कस के आसपास व चूडी मार्केट में जहां भीड़भाड़ व अधिक आवागमन रहता है वहां डब्ल्यूएचओ की ओर से जारी गाइड लाइन की पालना नहीं किए जाने वाले लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करें।
उन्होंने कार्यवाहक नगर परिषद आयुक्त को शहर के मुख्य बाजारों में विद्युत पोलों पर लाउड स्पीकर लगवाकर कोरोना से बचाव के लिए जन जागरूकता का प्रचार कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बाजारों में प्रत्येक दुकान के सामने सफेद गोले के संकेत होने चाहिए, जिससे ग्राहक अपनी बारी का इंतजार कर सकें। जिला कलक्टर ने यह भी कहा कि शहर के विद्युत पोलों पर जन जागरूकता के होर्डिंग्स आवश्यक रूप से लगवाए जाएं। जिन दुकानों पर पॉजिटिव केस मिले हैं वे दुकानें हर हालत में तीन दिन के लिए बन्द होनी चाहिए।

कलक्ट्रेट परिसर में कर्मचारियों की जांच कराएं

जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि कलक्ट्रेट परिसर में सभी कर्मचारियों की कोरोना टेस्टिंग आवश्यक रूप से करवाएं। संक्रमित क्षेत्रों में अधिक से अधिक लोगों की कोरोना टेस्ट के लिए सेंपलिंग करवाएं तथा समय पर उनकी रिपोर्ट आ सके, इसके लिए अपने सूचना तंत्र को मजबूत करें। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्तियों की पूरी जानकारी उपलब्ध होना जरूरी है।

कार्यालय में लगे चिकित्सकों को फील्ड में भेजने के निर्देश

बैठक में जिला कलक्टर ने सीएमएचओ को चेतावनी देते हुए कहा कि उनके कार्यालय में जो चिकित्सक रिकॉर्ड संधारण व लिपिक का कार्य कर रहे हैं, उन्हें तुरन्त प्रभाव से फ ील्ड में भेजकर कार्य करवाएं। उनके पास जितनी थर्मल गन है उनका सही उपयोग किया जाए।

कोरोना लैब शुरू नहीं होने पर जताई नाराजगी

जिला कलक्टर ने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी से अब तक कोरोना टेस्टिंग लैब चालू नहीं किए जाने पर नाराजगी जाहिर की और निर्देश दिए कि दो दिन में कोरोना टेस्टिंग लैब चालू की जाए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो लोग होम क्वॉरंटीन में हैं तथा नियमों की पालना नहीं कर रहे, ऐसे लोगों को चेतावनी दें तथा संस्थागत क्वॉरंटीन सेन्टर पर भेंजे, या फिर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाएं।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned