बप्पा पधारो मेरे घर

Sanjay Kumar Dandale

Publish: Sep, 12 2018 05:06:00 PM (IST)

स्‍पेशल

छिंदवाड़ा. गणपति बप्पा की मूर्तियों की खूबसूरत डिजाइन और अट्रेक्टिव कलर, रत्न जडि़त मुकुट श्रद्धालुओं का ध्यान अपनी ओर खींच रही हैं। छोटे से लेकर पांच फीट तक की गणपति प्रतिमाएं शहर के मूर्तिकारों के यहां सजी हुईं हैं। शहर में कुछ लोग हाथ ठेलों पर गणपति की प्रतिमाएं लेकर घूम रहे हैं। इस बार मिट्टी के गणपति बिक रहे हैं। इसके साथ ही लोगों की पसंद का ध्यान रखते हुए इस बार कई नए डिजाइन में गणपति प्रतिमाएं मूर्तिकारों ने बनाईं हैं।

कई देवताओं के रूप में बप्पा

मूर्तिकारों की रचनात्मकता का भी जवाब नहीं है। वह नए-नए डिजाइन लेकर आ रहे हैं। ऐसे में इस बार कृष्ण के रूप में गणपति को लाया गया है। इसके अलावा अन्य कई देवताओं के रूप में गणपति बप्पा मूर्तियां तैयार की गई हैं। मूर्तिकारों ने बताया कि आकर्षक गणपति पंडाल की शोभा बढ़ाने के साथ सभी को भाते हैं।

शृंगार सामग्री भी खास

प्रथम पूज्य के के वस्त्रों को ग्लिटर, चमकीले सीक्वेंस और स्टोन से सजाया गया है। दुकानदारों ने बताया कि इस बार गणपति उतसव को लेकर विशेष शृंगार सामग्री मुम्बई, नागपुर व अन्य महानगरों से आई हैं। इसके साथ ही गणपति की सजावट के लिए साफे, मुकुट आदि उपलब्ध हैं। थर्माकोल के डिजाइनर सेट भी उपलब्ध हैं।

शहर में ही तैयार हो रहीं लुभावनी प्रतिमाएं

गणपति की आकर्षक प्रतिमाएं शहर में करीब एक दर्जन से अधिक स्थानों पर तैयार की जा रहीं हैं। न केवल बड़े साइज के गणपति यहां पर बनाए जा रहे हैं बल्कि शहर के मूर्तिकार छोटे साइज के गणपति भी बना रहे हैं। यह मूर्तियां छापाखाना, कुम्हारी मोहल्ला, गांगीवाड़ा समेत गरैया सब्जी मंडी क्षेत्र में तैयार किए जा रहे हैं। इसके अलावा शहर के कई स्थानों पर गणेश प्रतिमाओं की दुकानें लगी हैं, जहां हर साइज के गणेश जी मिल रहे हैं। बाजार में गणेश प्रतिमा के साथ मूसक भी उपलब्ध हैं, जो बच्चों को सबसे अधिक अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned