बार कौंसिल ऑफ राजस्थान के चुनाव परिणाम घोषित : शर्मा चेयरमैन और बंसल डिप्टी चेयरमैन

MI Zahir

Publish: Aug, 21 2018 06:28:24 PM (IST)

स्‍पेशल

जोधपुर.नौ वर्ष बाद पुनर्गठित बार कौंसिल ऑफ राजस्थान (बीसीआर) के पदाधिकारियों के गत रविवार को हुए चुनाव के परिणाम मंगलवार को हाईकोर्ट की इजाजत के बाद घोषित कर दिए गए। परिणाम के अनुसार सुशीलकुमार शर्मा चेयरमैन और जीडी बंसल डिप्टी चेयरमैन होंगे। बीसीआइ प्रतिनिधि पद पर सुरेशचन्द्र श्रीमाली, को-चेयरमैन के चार पदों पर राजेश पंवार, कुलदीप शर्मा, सैय्यद शाहिद हुसैन और आरपी सिंगारिया पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हो चुके थे।

बीसीआइ से प्राप्त ई-मेल पेश किया

राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश जस्टिस पुष्पेंद्रसिंह भाटी की पीठ में मंगलवार दोपहर याचिकाकर्ता जगमालसिंह चौधरी की ओर से दायर याचिका की सुनवाई के दौरान बार कौंसिल ऑफ इंडिया की ओर से अधिवक्ता प्रीतम सोलंकी ने बीसीआइ से प्राप्त ई-मेल पेश किया। इसके साथ ही कोर्ट ने याचिकाकर्ता के वकील वरिष्ठ अधिवक्ता मगराज सिंघवी, बीसीआर के वकील वरिष्ठ अधिवक्ता जेएल पुरोहित और बीसीआइ के सोलंकी की आम सहमति से मतपेटी खोल कर मतगणना करने और परिणाम घोषित करने की इजाजत दी। इसके बाद बीसीआर के हाईकोर्ट परिसर स्थित मुख्यालय में तीनों अधिवक्ताओं की मौजूदगी में बीसीआर सचिव आरपी मलिक ने मत पेटी की सील खोली और मतों की गणना कर परिणाम की घोषणा की। इसके बाद चेयरमैन पद पर विजयी सुशीलकुमार शर्मा को १६ व पराजित डॉ. महेश शर्मा को ९ मत प्राप्त हुए। डिप्टी चेयरमैन पद पर विजयी जीडी बंसल को 16, पराजित देवेन्द्रसिंह को 9 मत प्राप्त हुए।

गत 18 अगस्त को हुए थे चुनाव
जोधपुर में बार कौंसिल ऑफ राजस्थान के चेयरमैन व डिप्टी चेयरमैन के चुनाव 18 अगस्त को हाईकोर्ट परिसर वकीलों की भारी गहमागहमी के बीच संपन्न हुए थे। इस दौरान उम्मीदवारों के समर्थक वकीलों की खासी रौनक रही थी। इस दौरान प्रत्याशियों के साथ साथ मतदाताओं में भी उत्साह देखा गया था। तब परिणाम लिफाफों में बंद हो गया था।
चुनाव में सभी नवनिर्वाचित 25 सदस्यों ने भाग लिया था।


यह था मुकाबला
अध्यक्ष पद के लिए सुशील कुमार शर्मा व महेश कुमार शर्मा में मुकाबला था। वहीं उपाध्यक्ष पद के लिए घनश्यामदास बंसल व देवेन्द्र सिंह राठौड उम्मीदवार थे। मतदान के बाद परिणाम बंद लिफाफे में हाईकोर्ट में पेश करने की कार्यवाही की गई ।

 

Ad Block is Banned