कृषि भूमि का आवासीय पट्टा जारी करने की एवज 15 हजार रुपए की घूस लेते लिपिक गिरफ्तार

crimecrime news

पीडि़त ने तहसील कार्यालय में नियमानुसार आवेदन भी किया,लेकिन आरोपी लिपिक ने अटकाई फाइल, एसीबी को लिखित शिकायत करने पर सत्यापन के बाद लिपिक को रंगहाथ दबोचा

By: suresh bharti

Published: 25 Jan 2021, 11:22 PM IST

अजमेर/चूरू. एसीबी की टीम ने सोमवार रात पट्टा जारी करने की एवज में तारानगर तहसील में कार्यरत कनिष्ठ लिपिक को 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पीडि़त को परेशान कर रहा था। एएसपी एसीबी चूरू आनंद प्रकाश स्वामी ने बताया कि तारानगर तहसील के महात्मा गांव निवासी लीलाधर ने कार्यालय में परिवाद पेश किया।

इसमें उसने बताया कि उसके गांव स्थित कृषि भूमि का आवासीय पट्टा जारी करने के लिए तहसील में आवेदन किया था। पीडि़त की ओर से इसके लिए शुल्क भी जमा करा दिया गया था। परिवादी ने तारानगर तहसील कार्यालय में कार्यरत आरोपी कनिष्ठ लिपिक कमल कुमार सैनी से पट्टा के संबंध में बात की। इस पर आरोपी की ओर से पट्टा जारी करने की एवज में रिश्वत मांगी गई।

शिकायत सत्यापन के बाद कार्रवाई

एसीबी की ओर से शिकायत का सत्यापन कराया गया। जो सही पाई गई। इस पर टीम की ओर से योजनाबद्ध तरीके से आरोपी कनिष्ठ लिपिक कमल कुमार सैनी को 15 हजार रुपए की रिश्वत राशि लेते हुए रंगे हाथों गिफ्तार कर लिया गया। एसीबी आरोपी लिपिक के अन्य मामले भी तलाश कर रही है।

नए साल में दूसरी कार्रवाई

उल्लेखनीय है कि नए साल में एसीबी की दूसरी कार्रवाई है। इससे पहले साल की पहली तारीख को ही एसीबी ने कस्बा बीदासर जोधपुर डिस्कॉम कार्यालय के एक सीसीए कर्मचारी रामसिंह को घरेलू बिजली कनेक्शन की एवज में 15 हजार रुपए की रिश्वत राशि लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था।

suresh bharti Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned