बेंगलूरु से हत्या का मुख्य आरोपी सहित पांच गिरफ्तार

Vikas Choudhary

Updated: 29 Aug 2019, 12:16:17 AM (IST)

स्‍पेशल

जोधपुर.
प्रतापनगर रोड पर दो मोटरसाइकिल सवार युवकों को टक्कर मारने के बाद भागने का प्रयास कर रही एसयूवी को ५वीं रोड ईदगाह के पास रोकने पर चाकू घोंपकर हत्या के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी सहित आठ और आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। चार आरोपी दो-दो सगे भाई हैं। दो जने आरोपियों की मदद करने के आरोप में पकड़े गए हैं। अब तक नौ आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। अन्य मददगारों के बारे में जांच की जा रही है।

पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार ने बताया कि छोटी ईदगाह के पास डॉ. जाकिर हुसैन कॉलोनी निवासी आदिल पुत्र अब्दुल रहीम, सालिम उर्फ टिड्डी पुत्र सलीम, इरफान पुत्र सनाउल्लाह, आकिब पुत्र अब्दुल रहीम, फराज पुत्र सनाउल्लाह, मुजाहिद पुत्र मनान, छीपानाडी निवासी इमरान खान पुत्र अब्दुल वहाब और आरिफ पुत्र रफीक खान को गिरफ्तार किया गया है। चाकू घोंपकर जोरावरसिंह की हत्या में आदिल, सालिम, इरफान, आकिब, फराज व मुजाहिद शामिल थे। जबकि इमरान व आरिफ ने इनको राज्य से बाहर भगाने में मदद की थी।
मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर है और उसके विरुद्ध विभिन्न थानों में दस मामले दर्ज हैं। आकिब उसका सगा भाई है। इरफान भी हिस्ट्रीशीटर है और हिस्ट्रीशीटर फराज उसका सगा भाई है।

हत्या के बाद फरार आदिल, सालिम, इरफान, आकिब व फराज को पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) प्रीति चन्द्रा और एडीसीपी (पश्चिम) कैलाशदान रतनू व एसीपी (प्रतापनगर) विक्रमसिंह के निर्देशन में सरदारपुरा थानाधिकारी लिखमाराम, हेड कांस्टेबल जमशेद खान, शकील, कांस्टेबल अविनाश बाबल व राजाराम ने बेंगलूरु से पकड़ा। आदिल का भाई फिरोज उर्फ मुर्गी बेंगलूरु में रहता है और सभी छुपने के लिए वहां पहुंचे थे।
इनके बारे तकनीकी मदद व अन्य सुराग देने के लिए प्रतापनगर थानाधिकारी पुष्पेन्द्र आढ़ा, पुलिस निरीक्षक अमित सिहाग, एसआइ सोमकरण, सरजिल मलिक, सुखराम, एएसआइ सोहनलाल, कांस्टेबल स्वरूप, महेन्द्रपाल, रविन्द्रकुमार, राजेश व तकनीकी सहायक प्रेम चौधरी भी शामिल थे।

चार साल से फरार भाई भी गिरफ्त मेंमुख्य आरोपी आदिल का भाई फिरोज उर्फ मुर्गी पुलिस स्टेशन प्रतापनगर में चार साल से वांछित था। वह तीन साल से वहीं रह रहा है। अन्य आरोपियों के संग उसे उसे भी गिरफ्तार किया गया है।
हत्या कर कार से पाली, फिर ट्रेन से भागे

डीसीपी (पश्चिम) प्रीति चन्द्रा का कहना है कि शादी में जाने के लिए आदिल ने मोहसिन खान से एसयूवी ली थी। शादी से लौटने के दौरान गत २१ अगस्त की देर रात प्रतापनगर रोड पर दो बाइक को टक्कर मारी जिससे राहुल सिंह व जीतू घायल हो गए और अन्य बाइक चालक बाबूलाल भील की मृत्यु हो गई थी। मौके से भाग रही एसयूवी को जोरावरसिंह ने पीछा कर ५वीं रोड पर ईदगाह के पास रोका था। आरोपियों ने चाकू घोंपकर उसकी हत्या कर दी थी। इसके बाद आरोपियों ने एक व्यक्ति से आर्थिक मदद ली। फिर इमरान ने आदिल, आकिब, सालिम, इरफान व फराज को भगाने के लिए लग्जरी कार उपलब्ध कराई थी। आरिफ ने उन्हें कार से पाली छोड़ा, फिर वो ट्रेन से अहमदाबाद होते हुए बेंगलूरु चले गए।
एसयूवी देने वाले का तीसरी बार रिमाण्ड बढ़ाया

एसयूवी उपलब्ध कराने के आरोपी मोहसिन खान को दो दिन की रिमाण्ड समाप्त होने पर प्रतापनगर थाना पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे एक दिन और रिमाण्ड पर भेज दिया गया। उसका रिमाण्ड तीसरी बार बढ़ाया गया है। उसे २३ अगस्त को गिरफ्तार किया गया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned