script55 लाख से अधिक का फर्जीवाड़ा: अब तक नहीं आई जांच रिपोर्ट, कर्मचारी को ज्वाइन कराने की तैयारी | Patrika News
खास खबर

55 लाख से अधिक का फर्जीवाड़ा: अब तक नहीं आई जांच रिपोर्ट, कर्मचारी को ज्वाइन कराने की तैयारी

पूर्व के चार सीएमएचओ ने भी अब तक नहीं दिया नोटिस का जवाब, संदिग्ध है कई की भूमिका,

शाहडोलJun 21, 2024 / 12:08 pm

Ramashankar mishra

शहडोल. स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के एरियर भुगतान में हेराफेरी करने के मामले में अब तक जांच रिपोर्ट नहीं आई है। जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग हेराफेरी करने वाले लेखापाल पर ठोस कार्रवाई नहीं कर पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के 22 से अधिक कर्मचारियों के साथ ही डॉक्टर्स के एरियर भुगतान में फर्जीवाड़ा करते हुए लेखापाल सत्येन्द्र चक्रवर्ती ने अपने सगे संबंधियों के खाते में पैसा ट्रांसफर कर गड़बड़ी की थी। जिसकी शिकायत मिलने पर रीवा कोषालय से टीम गठित कर जांच के लिए भेजी गई थी। करीब 10 दिनों तक की गई जांच में 55 लाख रुपए से अधिक का फर्जी तरीके से एरियर भुगतान होना पाया गया था। जांच टीम सीएमएचओ कार्यालय से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज के साथ ही लेखापाल का कम्प्यूटर जब्त कर जांच के लिए रीवा ले गई थी। ढाई महीने बाद भी टीम ने सीएमएचओ कार्यालय को जांच रिपोर्ट नहीं सौंपा। जिसके कारण लेखापाल पर अब तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई है। इधर अधिकारी कर्मचारी को दोबारा ज्वाइन कराने की तैयारी कर रहे हैं।

फरार चल रहा लेखापाल
दो माह बीत जाने के बाद भी सीमएचओ कार्यालय में पदस्थ लेखा पाल सत्येन्द्र चतुर्वेदी अब तक फरार चल रहा है। जिस पर विभाग किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर पा रहा है। विभाग की तरफ से कोतवाली को सूचित किया गया था, लेकिन पुलिस जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने की बात कहकर लेखापाल के विरुद्ध मामला दर्ज नहीं की थी।

तीन चरण में भुगतान, बाकी पर कार्रवाई ने खड़े किए सवाल
बताया जा रहा है कि एरियर का भुगतान तीन चरणों में होता था। इसके लिए अप्रूवल और वेरिफिकेशन के लिए ओटीपी भी जाता था। मामले में कई बड़़े अधिकारी के जांच के घेरे में आने के बाद उन पर कार्रवाई नहीं हुई है। रसूख के चलते मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है।

पूर्व के चार सीएमएचओ को भी नोटिस जारी
सीएमचओ कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार 2018-19 से स्वास्थ्य कर्मचारियों के टीए, डीए व एरियर भुगतान में गड़बड़ी की जा रही थी। लेखापाल सत्येन्द्र चतुर्वेदी स्वयं व अपनी पत्नी सहित चार अन्य अलग-अलग बैंक खातों में पैसा जमा कराकर भुगतान प्राप्त कर लेता था। वर्तमान सीएमएचओ ने एरियर की राशि हेरफेर मामले में पूर्व के चार सीएमएचओ को पत्र जारी कर जवाब मांगा था। लेकिन समय सीमा बीत जाने के बाद किसी भी सीएमएचओ की तरफ से अबतक जवाब प्रस्तुत नहीं किया गया है।

इनका कहना है
टीम की तरफ से अभी तक जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत नहीं किया गया है, जिसके कारण लेखापाल के विरुद्ध आगे की कार्रवई लंबित है। वहीं पूर्व के चार सीएमएचओ ने भी नोटिस का जवाब अबत क प्रस्तुत नहीं किया है।
डॉ. अशोक कुमार लाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

Hindi News/ Special / 55 लाख से अधिक का फर्जीवाड़ा: अब तक नहीं आई जांच रिपोर्ट, कर्मचारी को ज्वाइन कराने की तैयारी

ट्रेंडिंग वीडियो