मोकलावास में गोचर भूमि पर अतिक्रमण से ग्रामीणों में रोष

ग्रामीणों ने बैठक के बाद जिला कलक्टर को हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन देकर अतिक्रमण हटाने लगाई गुहार

By: Nandkishor Sharma

Published: 21 Jul 2020, 09:10 PM IST

स्‍पेशल

जोधपुर. मोकलावास की गोचर भूमि पर लगातार बढ़ते अतिक्रमण से आक्रोशित रोहिला कला और मोकलावास के ग्राम वासियों ने सामूहिक बैठक के बाद मुख्यमंत्री, जिला कलक्टर व पुलिस आयुक्त को हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन सौंपकर ग्राम पंचायत रोहिला कला के भूरिया भाकर तलहटी में स्थित गोचर और राजकीय भूमि पर हो अवैध कब्जों को हटाने की मांग की। ज्ञापन में कहा गया है कि गोचर भूमि पर अवैध निर्माण के लिए लगातार भूमि पर निर्माण के लिए पत्थर डाले जा रहे है। ज्ञापन में अवैध कब्जे और अतिक्रमण के प्रयास को तुरंत रोकने और इसमें संलिप्त संदिग्ध लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की गई है। गोचर भूमि पर बढ़ते अतिक्रमण को लेकर क्षेत्र के नरपतसिंह राठौड़ के नेतृत्व में आयोजित बैठक में हिंदू जागरण मंच के पदाधिकारी, विश्व हिंदू परिषद,बजरंग दल सहित बडी़ संख्या में गांव के युवा तथा आसपास के गांव के वरिष्ठ लोग भी शामिल हुए। बैठक में गांव की समस्त गोचर भूमि को अतिक्रमण मुक्त करवाकर पटवारी से सीमांकन करवाने की मांग की गई। ग्रामीणों ने गोचर भूमि पर चार दीवारी बनाकर सेवण घास लगाने व गांव के लावारिस गोवंश के लिए गौशाला खोलने में सहयोग की घोषणा की। बैठक के बाद ग्रामीणों ने अतिक्रमण स्थल पहुंचकर अवलोकन भी किया। कामधेनु सेना के प्रदेश प्रभारी नरसिंह गहलोत ने बताया की बैठक में मोकलावास गोचर भूमि संघर्ष समिति का गठन की रूपरेखा तय की गई।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned