चित्तौडग़ढ़. भाजपा की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन से जिले में भाजपा कार्यकर्ताओं में शोक का माहौल है लेकिन सबसे अधिक आहत वे नेता महसूस कर रहे हैं जिन्हें किसी रूप में उनके साथ कार्य करने का अवसर मिला। कुशल वक्ता सुषमा से जो भी एक बार मिला, वह उसे फिर नहीं भूल पाया। किसी के लिए वे मार्गदर्शक की भूमिका में रही तो किसी के लिए बड़ी बहन समान थी। पूर्व मंत्री श्रीचंद कृपलानी को दस वर्ष लोकसभा सदस्य रहने के दौरान उनके साथ काम करने का अवसर मिला तो वर्तमान सांसद सीपी जोशी भी पांच वर्ष उनके सान्निध्य में लोकसभा में कार्य कर चुके हैं। सुषमा स्वराज का चित्तौडग़ढ़, निम्बाहेड़ा, बड़ीसादड़ी आदि क्षेत्रों में आना हुआ था।
भाई जैसा रिश्ता रखती थीं
सुषमा स्वराज से मेरी पहली मुलाकात नब्बे के दशक में पार्टी कार्यक्रम में ही हुई थी। उसके बाद निरन्तर मिलना होता रहता था। वर्ष 1999 से 2009 तक सांसद रहने के दौरान उनसे परिचय में घनिष्ठता आई। वे मुझे हमेशा छोटे भाई के समान स्नेह देती थी। लोकसभा में हमेशा मार्गदर्शक रही। कभी चूक हो जाती तो समझाती कि यह कार्य ऐसे नहीं इस तरह से किया जाना चाहिए। जब भी मार्गदर्शन मांगा, उन्होंने निराश नहीं किया। आग्रह करने पर वे दो बार विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए निम्बाहेड़ा भी आई थी।
-श्रीचंद कृपलानी, पूर्व सांसद चित्तौडग़ढ़

उनके प्रयासों से ही खुला चित्तौडग़ढ़ में पासपोर्ट ऑफिस

पिछली लोकसभा में पांच वर्ष सदस्य के रूप में सुषमा स्वराज का सानिध्य मिला, उन्होंने क्षेत्र पर भी विशेष स्नेह रखा। उनके प्रयासों से ही मेवाड़ के उदयपुर, चित्तौडग़ढ़, प्रतापगढ़ में पासपोर्ट सेवा केन्द्र प्रारंभ हुए। वर्ष २०१५ में उदयपुर में केन्द्र की मोदी सरकार का एक वर्ष पूरा होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में आई तो मैने उनसे कहा कि क्षेत्र में पासपोर्ट ऑफिस नहीं आने से परेशानी होती है। उन्होंने कुछ देर बाद ही पत्रकार वार्ता में उदयपुर में इसे खोलने की घोषणा कर दी। बाद में चित्तौडग़ढ़ में पासपोर्ट कार्यालय खेाला गया। प्रतापगढ़ तो शायद पहला स्थान होगा जहां उप डाकघर होने पर भी पासपोर्ट केन्द्र खुल गया। उनसे मेरा पहला परिचय भाजपा जिलाध्यक्ष रहने के दौरान वर्ष २०१३ में बड़ीसादड़ी क्षेत्र में चुनाव प्रचार में आने पर हुआ। विदेश मंत्री के रूप में वे अल्प सूचना पर भी लोगों की किस तरह मदद करती थी ये पूरी दुनिया जानती है।
-सीपी जोशी, सांसद, चित्तौैडग़ढ़

कभी नहीं भूल सकता पहली मुलाकात
सौम्यता व सादगी की प्रतिमूर्ति सुषमा स्वराज राजनीतिक क्षेत्र में मेरी आदर्श एवं प्रेरणा रही। मेरी उनसे पहली मुलाकात वर्ष २००३ में निम्बाहेड़ा से विधायक चुनाव लडऩे के दौरान उनके प्रचार के लिए यहां आने पर हुई थी। मालगोदाम रोड पर हुई जनसभा में उनकी औजस्वी वाणी ने निम्बाहेड़ा के आमजन को भी मंत्रमुग्ध कर दिया था। पहली मुलाकात में ही उन्होंने मेरे से इतनी आत्मीयता से बात की जिसे में कभी नहीं भूल सकता। इसके बाद पार्टी के कार्यक्रमों में कई बार उनसे मुलाकात हुई व मार्गदर्शन मिलता रहा।
अशोक नवलखा, पूर्र्व विधायक एवं सदस्य भाजपा राष्ट्र्रीय परिषद
भारत उदय यात्रा संग आई चित्तौैडग़ढ़
सुषमा स्वराज वर्ष 2004 में मार्च माह में तत्कालीन उप प्रधानमंत्री व गृहमंत्री लालकृष्ण आड़वाणी द्वारा १० मार्च से कन्याकुमारी से शुरू भारत उदय (इंडिया शाइनिंग) यात्रा के चित्तौडग़ढ़ पहुंचने पर यहां आई थी। इस दौरान सुभाष चौक में जनसभा भी हुई थी। तत्कालीन सूचना एवं प्रसारण मंत्री सुषमा से यहां एक होटल में भाजपा के कई कार्यकर्ता मिले और उन्होंने सहजभाव से जिस तरह उनसे बात की एवं फोटो ख्रींचवाए उसे कार्यकर्ता भूल नहीं पाए। सुषमा इसके बाद कभी चित्तौडग़ढ़ शहर में किसी कार्यक्रम में नहीं आई हॉलाकि चुनाव प्रचार के लिए जिले के दूसरे क्षेत्रों में आना हुआ था।
अंतिम बार बड़ीसादड़ी में आई थी प्रचार के लिए
विधानसभा चुनाव-2013 के दौरान संसद में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभा रही सुषमा स्वराज बड़ीसादड़ी विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार के लिए पहुंची थी। यहांं उन्होंने तत्कालीन भाजपा प्रत्याशी गौतम दक के समर्थन में जनसभा को सम्बोधित किया था। सुषमा इसके बाद जिले में कभी नहीं आ पाई हॉलाकि जिले के कुछ कार्यकर्ताओं से उनका जुड़ाव बना रहा व ऐसे कार्यकर्ता दिल्ली जाते तो उनसे मुलाकात करते थे। सुषमा स्वराज वर्ष २००३ के विधानसभा चुनाव में निम्बाहेड़ा विधानसभा क्षेत्र से तत्कालीन भाजपा प्रत्याशी अशोक नवलखा के समर्थन में सभा को सम्बोधित करने भी आई थी।

 

 

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned