जेल में रहकर की पढ़ाई, आईआईटी में हुआ चयन

जेल में रहकर की पढ़ाई, आईआईटी में हुआ चयन
IIT

Jamil Ahmed Khan | Updated: 29 Jun 2016, 11:59:00 PM (IST) स्‍पेशल

पीयूष की उपलब्धि भी इसलिए खास है क्योंकि उसने पिता के साथ जेल की 8 फीट लंबे चौड़े कमरे में रहकर ही पढ़ाई की

कोटा। कहते हैं अगर जिंदगी में कुछ पाने का जज्बा हो तो कामयाबी आपके कदमों को चूमती है। ऐसे ही जज्बे की बदौलत जेल में रहते हुए एक छात्र ने आईआईटी की परीक्षा पास कर ली है। कहानी है राजस्थान के कोटा शहर की ओपन जेल की। जेल में रहकर आईआईटी की परीक्षा पास करने वाले पीयूष ने कोई गुनाह नहीं किया था, न ही उसकी ऐसी कोई मजबूरी थी।

दरअसल, पीयूष के पिता हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं। पिता की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण पीयूष को जेल में रहकर ही पढ़ाई करनी पड़ी। वह पिछले दो सालों से आईआईटी के लिए कड़ी मेहनत कर रहा था।

पिता ने ओपन जेल में बेटे को अपने साथ रख आईआईटी की कोचिंग करवाई। बेटे ने पिता को निराश नहीं किया और आईआईटी की परीक्षा पासकर उनका सपना पूरा किया। पीयूष की 453वीं रैंक आई है।

बेटे की कामयाबी से पिता गदगद है। पीयूष की उपलब्धि भी इसलिए खास है क्योंकि उसने पिता के साथ जेल की 8 फीट लंबे चौड़े कमरे में रहकर ही पढ़ाई की। पीयूष की सफलता पर उसके पिता के साथ साथ पूरा कोटा जेल प्रशासन भी खुश है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned