इंटरनेट बनाने वाली टीम ने जताई चिंता, कहा इसके इस्तेमाल से मानवता को है खतरा

इंटरनेट बनाने वाली टीम ने जताई चिंता, कहा इसके इस्तेमाल से मानवता को है खतरा

Arijita Sen | Publish: Mar, 14 2018 02:04:57 PM (IST) | Updated: Aug, 16 2018 10:51:24 AM (IST) स्‍पेशल

इंटरनेट एक ऐसा हथियार बनता जा रहा है जो आने वाले समय में विनाश का कारण भी बन सकता है।

नई दिल्ली। इंटरनेट, वो शब्द जो आज हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा है, वो हिस्सा जिसके बगैर एक सेकेंड चल पाना हमारे लिए मुश्किल होता जा रहा है और तो और दिन-प्रतिदिन इसके प्रति हमारी निर्भरता कम होने के बजाय बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में वल्र्ड वाइड वेब के जन्मदाता बर्नर्स ली ने आने वाले समय में इसके चलते होने वाले आपदा को लेकर अपनी चिंता व्यक्त की है। ली का ये कहना है कि इंटरनेट एक एक ऐसा हथियार बनता जा रहा है जो आने वाले समय में विनाश का कारण भी बन सकता है।

Berners Lee

आपको बता दें कि इस माह वल्र्ड वाइड वेब के 29 साल पूरे हो गए। मार्च 1989 में बर्नर्स ली के टीम ने रॉबर्ट साइलाउ के साथ मिलकर इंटरनेट के कॉन्सेप्ट को बनाया था और आज उसी टीम ने इंटरनेट के खतरनाक भविष्य को लेकर अपने ब्लॉग पर लिखा है और कहा है कि आज हम हथियारबंद इंटरनेट बना रहे हैं और ये सही भी है क्योंकि आज के दिन इंटरनेट एक हथियार लिए आदमी के जैसा है।

साइबर अटैक,सिक्युरिटी सिस्टम हैक, पर्सनल डेटा लीक जैसी बातें आज के दिन एक सामान्य सी बात हो गई है। वर्तमान समय में लगातार हो रहे साइवर अटैक, हैकिंग, फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन के माध्यम से चोरी की घटनाओं के चलते लोगों का इंटरनेट पर से भरोसा उठता जा रहा है।

आज दुनिया की आधी आबादी इंटरनेट से जुड़ी हुई है और वहीं आधी इससे जुडऩा ही नहीं चाहती है। टीम ने आगे अपनी बात को जारी रखते हुए कहा कि वेब का निर्माण एक ऐसे स्पेस के तौर पर किया गया था जो फ्री होने के साथ ही क्रिएटिव और ओपेन टू ऑल हो लेकिन अब ऐसा होता नहीं दिख रहा है।

World wide web

इसके साथ ही इसमें खर्च की भी असमानता है जैसे कि कई देशों में लोग कर्म खर्च में अच्छी स्पीड के साथ 1 जीबी डेटा पा सकते है लेकिन ऐसे भी कई देश है जैसे कि जिम्बॉब्वे और अफ्रीकन देशों में इसी 1 जीबी डेटा के लिए लोगों को अपनी कमाई का 20 प्रतिशत खर्च करना पड़ता है। इस तरह से आज वेब कई तरह की समस्याओं से घिरा हुआ है और ये समस्याएं कम होने के बजाय और जटिलता के साथ बढ़ती ही जा रही है और लोगों से अपने प्रति विश्वास को निरंतर खोते जा रही है।

 

Ad Block is Banned