न्यू कैम्पस में दौड़ाई गाडि़यां, टक्कर मारी, पत्थर फेंके

- जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव से पहले गर्माई छात्र राजनीति
- दो एसयूवी, एक कैम्पर व एक बुलेट में तोड़-फोड़
- पुलिस ने फटकारी लाठियां, 15 छात्र गिरफ्तार
- डीसीपी प्रीति ने कहा- अंदर बंद कर दिया तो प्रचार करने को तरस जाओगे

Vikas Choudhary

Updated: 20 Jul 2019, 02:00 AM IST

स्‍पेशल

जोधपुर.
जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के अगले महीने होने वाले छात्रसंघ चुनाव को लेकर शुक्रवार सुबह विवि के नए परिसर में जनसम्पर्क करने पहुंचे छात्रों के गुट भिड़ गए। छात्रों ने एसयूवी और कैंपर गाडिय़ां एक दूसरे के पीछे दौड़ाई और लैंग्वेज विंग के सामने पीछे से टक्कर मारने के बाद पत्थरबाजी से दो एसयूवी, एक कैम्पर और एक बुलेट क्षतिग्रस्त हो गईं। इस दौरान एमएससी की काउंसलिंग के लिए आए छात्र-छात्राएं भी डर के मारे भाग गए। विरोध में छात्रों ने नए परिसर का मुख्य गेट बंद कर रास्ता रोका तो वहां भी पथराव शुरू हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने डण्डे फटकारकर छात्रों को खदेड़ा और मौके व छात्रावास के कमरों से १५ जनों को गिरफ्तार कर लिया। शास्त्रीनगर थाने में पुलिस व एक छात्र नेता की तरफ से एफआइआर दर्ज कराई गई है।

घटनास्थल पहुंची पुलिस उपायुक्त प्रीति चंद्रा ने छात्रों को चेतावनी देते हुए कहा, ‘तीन दिन से चल रहे ड्रामे ने पुलिस की नाक में दम कर रखा है। शांति से चुनाव लडऩा है तो शांति से प्रचार करो। नहीं तो अंदर कर दिए जाओगे। प्रचार करने के लिए तरस जाओगे।’
पुराना परिसर से कुछ छात्र नेता सुबह करीब ११ बजे दो-तीन एसयूवी व दुपहिया वाहनों से विवि के न्यू कैंपस पहुंचे। इसका पता लगने पर नए परिसर में पहले से मौजूद छात्र एकत्रित हो गए। बोलेरो कैम्पर व एसयूवी में सवार छात्रों ने प्रचार के लिए आए छात्रों को घेर लिया और वाहनों को टक्कर मारनी शुरू कर दी। इससे छात्र घबरा गए और वाहन दौड़ाने लगे तो छात्रों ने एसयूवी से पीछा कर टक्कर मारी। बड़े-बड़े पत्थर भी कारों पर फेंके गए। इस दौरान एक कैम्पर बंद होने पर छात्र एसयूवी में बैठ भाग निकले। पुलिस ने दो एसयूवी व बुलेट कब्जे में ली है। कैम्पर को जब्त किया गया है।
साइड इफैक्ट : मुख्य गेट बंद, काउंसलिंग के लिए छात्र अटके

हमले के विरोध में छात्रों के एक पक्ष ने न्यू कैंपस का मुख्य गेट बंद कर दिया। इससे काउंसलिंग में आ रहे छात्र भी मुख्य गेट पर अटक गए। पुलिस की समझाइश से भी छात्र नहीं माने और फिर से पथराव शुरू हो गया। कुछ पत्थर पुलिस वाहन पर भी लगे। एडीसीपी (पश्चिम) कैलाशदान रतनू, एसीपी (पश्चिम) चैनसिंह महेचा अतिरिक्त पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) प्रीति चंद्रा भी मौके पर आईं। पथराव करने वालों पर डण्डे भांजनेे पर सभी छात्र भाग छूटे।
कार्रवाई : पुलिस व छात्र नेता की तरफ से दो मामले दर्ज

इस मामले में एसआइ तुलसी की तरफ से हंगामा, वाहनों को टक्कर मारने, पथराव व धक्का-मुक्की कर रास्ता रोकने का मामला दर्ज किया गया है। दूसरी तरफ छात्र रविन्द्र सिंह की तरफ से हनुमान तरड़ व अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। एक पक्ष से हनुमान तरड़, सुनील जाट, रविन्द्र, कुंभाराम जाट, महेश जाट, महावीर जाट, भूपेन्द्र जाट, किशोर कुमार, राजूराम जाट और दूसरे पक्ष से बाबूसिंह, रविन्द्रसिंह भाटी, जेठूसिंह पुत्र सवाईसिंह, जेठूसिंह पुत्र माधोसिंह व जितेन्द्रसिंह को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया।

चिंताजनक : २० दिन बाद भी पढ़ाई नहीं, झड़पें रोज
विवि में शैक्षणिक सत्र शुरू हुए करीब 20 दिन हो गए। लेकिन पढ़ाई होने की जगह चुनाव को लेकर सियासत और छात्र गुटों के बीच झगड़े हो रहे हैं। तीन दिन तक पुलिस के समझाने के बावजूद छात्रों के कान पर जूं नहीं रेंगी। अब पुलिस उत्पाती छात्र नेताओं के नाम विश्वविद्यालय को भेजकर इनके निलंबन की मांग करेगी ताकि वे चुनावी प्रक्रिया से बाहर हो जाएं। पुलिस ने विश्वविद्यालय को और अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाने और आइडी कार्ड से ही प्रवेश देने का सुझाव दिया है ताकि बाहर के छात्रों को कैंपस में प्रवेश करने से रोका जा सके।
हकीकत : विवि के छात्र नहीं, चुनाव के लिए लेंगे एडमिशन

शुक्रवार सुबह नया परिसर में चार पहिया वाहनों में सवार होकर आए कई छात्र विवि के नियमित छात्र भी नहीं हैं। विवि में प्रवेश के लिए आइडी कार्ड की अनिवार्यता नहीं होने से इनकी परिसर में एंट्री हो जाती है और यह नियमित छात्रों के लिए परेशानी का सबब बनते हैं। कई तो केवल इसलिए एडमिशन लेंगे ताकि छात्रसंघ चुनाव में भाग ले सकें।
...........................................................
चुनाव के नाम पर गुण्डागर्दी बर्दाश्त नहीं
‘चुनाव के नाम पर गुण्डागर्दी करने वाले छात्रों को निलम्बित करने के लिए वीसी को लिखा जाएगा। सख्त धाराओं में मामले दर्ज कर कार्रवाई होगी। दूसरे छात्रों व आमजन को चुनाव के नाम पर परेशान करना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’

प्रीति चन्द्रा, पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) जोधपुर।

-----------------------

सीसीटीवी कैमरों से करेंगे रिकॉर्डिंग

‘सीसीटीवी कैमरों से रिकॉर्डिंग सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। पुलिस के कहने पर और सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। अभी प्रवेश प्रक्रिया चल रही है। बाद में केवल आइडी से ही संबंधित संकाय के लिए छात्रों को प्रवेश का नियम लागू किया जाएगा। पुलिस से पत्र प्राप्त होने के बाद संबंधित छात्रों पर कार्रवाई की जाएगी।
अयूब खान, रजिस्ट्रार, जेएनवीयू जोधपुर

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned