कर्नाटक संकट : सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पांच और विधायक

Amit Kumar Garg

Publish: Jul, 14 2019 03:14:00 PM (IST)

स्‍पेशल

बेंगलूरु। कर्नाटक की राजनीति सुप्रीम कोर्ट से लेकर शिरडी के साईं धाम तक जा पहुंची है। एक तरफ पांच विधायकों ने स्पीकर के इस्तीफा न स्वीकार करने पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। वहीं दूसरी तरफ अब तक मुंबई में डेरा डाले बैठे 14 विधायकों ने शिरडी के साईं धाम का रुख कर लिया है। कर्नाटक की राजनीति का ऊंट किस करवट बैठेगा इस पर सस्पेंस लगातार गहराता जा रहा है। स्पीकर की ओर से इस्तीफे अब तक स्वीकार न होने पर फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है। इस बीच सीएम एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में विश्वास मत प्रस्ताव का सामना करने की बात कही है। उनके इस दांव का जवाब देते हुए पूर्व सीएम और सीनियर बीजेपी लीडर बीएस येदियुरप्पा का कहना है कि वह फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वह सोमवार तक का इंतजार कर रहे हैं। कांग्रेस के एक नाराज विधायक नागराज ने इस बीच रुख बदलते हुए कहा है कि मैं इस्तीफे पर विचार कर रहा हूं और अन्य कुछ विधायकों को भी इसके लिए राजी करने की कोशिश करूंगा।
दोनों तरफ से विधायकों को अपने खेमे में बनाए रखने के लिए जोड़-तोड़ की कोशिशें जारी हैं। एक तरफ पूर्व सीएम सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार कांग्रेस विधायकों को जोडऩे की कोशिशों में जुटे हैं, तो वहीं येदियुरप्पा ने पार्टी के विधायकों के साथ लंच किया। दोनों ही खेमे अपने विधायकों को साधने के साथ ही सरकार गठन के लिए जरूरी नंबर जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि कांग्रेस के लिए मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। कांग्रेस-जेडीएस सरकार को अब तक समर्थन दे रहे दो निर्दलीय विधायकों आर. शंकर और एच. नागेश ने स्पीकर को पत्र लिखकर कहा है कि उनके लिए विपक्षी खेमे की बेंचों में बैठने की व्यवस्था की जाए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned