जानिए कैसा है अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन

तरिक्ष स्टेशन हर 90 मिनट में पृथ्वी की पूर्ण कक्षा बनाता है

By: pushpesh

Published: 22 Nov 2020, 10:54 PM IST

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आइएसएस) को अंतरिक्ष में स्थापित किए 20 वर्ष पूरे हो गए। आइएसएस को स्थापित करने में अमरीका, रूस, जापान, कनाडा सहित 11 देशों ने सहयोग किया। आइएसएस 330 किमी की औसत ऊंचाई के साथ कक्षा में है। अंतरिक्ष स्टेशन हर 90 मिनट में पृथ्वी की पूर्ण कक्षा बनाता है, जिसका मतलब है कि स्पेस स्टेशन की प्रति सेकंड पांच मील की औसत गति है। जानिए कुछ दिलचस्प बातें-

-अब तक 19 देशों के 241 यात्री अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर जा चुके हैं। इनमें भारत की कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स भी हैं। कल्पना की मौत वर्ष 1997 में आइएसएस से लौटते वक्त ही हुई।
-90 मिनट में पृथ्वी का एक चक्कर लगाता है आइएसएस यानी 24 घंटे में 16 परिक्रमा।
-240 फीट लंबाई और 357 फीट चौड़ाई है अंतरिक्ष स्टेशन की।
-419,725 किलोग्राम वजन है इसका, अंतरिक्ष में इंसान द्वारा भेजा गया सबसे वजनी ऑब्जेक्ट।
-136 उड़ानों से स्टेशन के हिस्से अंतरिक्ष में ले जाकर वहीं जोड़ा।
-अमरीकी एस्ट्रोनॉट पैगी व्हिटसन के नाम सबसे अधिक 665 दिन अंतरिक्ष में रहने का रेकॉर्ड है।

Show More
pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned