scriptKota division | बिजली चोरी रोकने के लिए जयपुर डिस्कॉम शुरू किया अभियान | Patrika News

बिजली चोरी रोकने के लिए जयपुर डिस्कॉम शुरू किया अभियान

कोटा संभाग के बूंदी वृत में बिजली चोरी के 123 और बिजली दुरुपयोग के 6 मामलों में 24.05 लाख तथा झालावाड़ वृत में बिजली चोरी के 163 मामलों में 30.28 लाख रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है।

 

Published: November 19, 2021 11:16:03 pm

कोटा. बिजली छीजत कम करने एवं बिजली चोरी पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए जयपुर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक के निर्देशन में दो दिन का विशेष सतर्कता जांच अभियान चलाया गया। इस अभियान में जयपुर डिस्कॉम के विजिलेन्स एवं ओ एण्ड एम विंग के अधिकारियों की ओर संयुक्त रूप से लक्षित स्थानों पर विजिलेन्स चैकिंग की कार्यवाही की गई। जयपुर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक नवीन अरोड़ा ने बताया कि डिस्कॉम क्षेत्र में बिजली चोरी की प्रभावी रोकथाम एवं विद्युत छीजत को न्यूनतम स्तर पर लाने के उद्देश्य से उच्चतम छीजत वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर 13 और 14 नवम्बर, 2021 को विशेष सतर्कता जांच अभियान चलाया गया। उन्होंने बताया कि दो दिन में 1387 स्थानों पर बिजली चोरी एवं 82 स्थानों पर बिजली दुरुपयोग के मामले पकड़े गए हैं। पकड़े गए सभी मामलों में 3 करोड़ 15 लाख 5 हजार रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है। जुर्माना राशि जमा करवाने के लिए संबंधितों को नोटिस जारी किए गए हैं। निर्धारित समयावधि में जुर्माना राशि जमा नही करवाने पर दोषियों के विरूद्ध विधिक कार्यवाही के लिए संबंधित विद्युत चोरी निरोधक पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करवाने की कार्यवाही की जाएगी।
अरोड़ा ने बताया कि बिजली चोरी पकडऩे के लिए डिस्कॉम क्षेत्र में चलाए गए विशेष अभियान के तहत जयपुर नगर वृत में बिजली चोरी के 177 और बिजली दुरुपयोग के 68 पकड़े गए मामलों में 38 लाख 4 हजार रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है। इसी तरह जयपुर जिला वृत में बिजली चोरी के 283 व दुरुपयोग के एक मामले में 78.05 लाख, अलवर वृत में बिजली चोरी 67 तथा दुरुपयोग के 3 मामलों में 24.12 लाख, दौसा वृत में बिजली चोरी के 100 और दुरुपयोग के एक मामले में 18.56 लाख, टोंक वृत में बिजली चोरी के 126 और दुरुपयोग के 3 मामलों में 25.52 लाख, भरतपुर वृत में बिजली चोरी के 180 मामलों में 43.02 लाख, धौलपुर वृत में बिजली चोरी के 63 मामलों में 12.63 लाख, सवाईमाधोपुर वृत में बिजली चोरी के 105 मामलों में 20.04 लाख, बूंदी वृत में बिजली चोरी के 123 और बिजली दुरुपयोग के 6 मामलों में 24.05 लाख तथा झालावाड़ वृत में बिजली चोरी के 163 मामलों में 30.28 लाख रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है। प्रबन्ध निदेशक ने बताया कि डिस्कॉम की विजिलेन्स टीमें अब ऎसे बिजली कनेक्शनों की जांच भी करेगी जो लम्बे समय से बन्द पड़े हैं, जिनके पूर्व में बिजली चोरी या बकाया राशि के चलते कनेक्शन कट गए थे। इसकी जांच की जा रही है कि इन जगहों पर बन्द बिजली कनेक्शन के बावजूद भी बिजली का उपयोग कैसे हो रहा है। ऎसे स्थानों पर बिजली चोरी या अवध बिजली कनेक्शन मिलने पर एफआइआर दर्ज करवाने की कार्यवाही की जाएगी। बतया कि बिजली चोरी रोकने और छीजत में कमी लाने के लिए डिस्कॉम की विजिलेन्स टीमों द्वारा टारगेटेड विजिलेन्स चैकिंग का अभियान आगे भी जारी रहेगा, जिससे बिजली चोरी पर प्रभावी अंकुश लगाया जा सके।
,electricity theft case

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.