देखिए यहां के बच्चे हैं जरा हट के, आपका कोई भी हो सवाल, देते हैं झटपट जवाब

माहुलपानी के समर्पित शिक्षक की मेहनत और लगन से बच्चे व ग्रामीण पा रहे शिक्षा

By: sunil vanderwar

Updated: 13 Feb 2019, 11:57 AM IST

स्‍पेशल

सिवनी. छपारा विकासखंड के ग्राम माहुलपानी ग्राम के प्राथमिक शाला में बतौर सहायक अध्यापक पदस्थ राजेश परते ने अपनी विशेष शिक्षण शैली से अपनी, शाला की व गांव की एक अलग पहचान बना ली है। सहायक अध्यापक बच्चों को किताबी ज्ञान के साथ-साथ उन्हें पूरे विश्व के सामान्य ज्ञान की जानकारियां भी देते हैं। माहुलपानी के प्राथमिक शाला में पढऩे वाले विद्यार्थी गूगल बॉय से कम नहीं है, जिन्हें अपने गांव के सरपंच से लेकर देश, विदेश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के नाम और विभिन्न प्रदेश के मुख्यमंत्री और अन्य जानकारी है। इतना ही नहीं इन विद्यार्थियों को देश में बहने वाली मुख्य नदियों की जानकारी से लेकर और भी कई जानकारियां हैं, जिन्हें पूछते ही हाजिर जवाब की तरह बता देते हैं।
इस शाला का विद्यार्थी लोकेश राठौर जोकि पांचवी कक्षा में है, 30 सेकंड में ही प्रदेश के 52 जिलों के नाम बता देते हैं। इतना ही नहीं देश के महापुरुषों और महानगरों के नाम यूं रटे हुए हैं जैसे गूगल में क्लिक करते ही जानकारी सामने आ जाती है। इसी तरह एक अन्य छात्र सत्यम राठौर जोकि चौथी कक्षा में है वह भी इसी तरह की याददाश्त का धनी है। वहीं माया राठौर नाम की बच्ची भी बहुत कुशलता से सामान्य ज्ञान के प्रश्नों का जबाब चुटकियों में दे देती है। इन बच्चों को होनहार बनाने के लिए शिक्षक राजेश परते सतत प्रयास करते हंै। शिक्षक का कहना है कि प्राथमिक शाला में पढऩे वाले लगभग सभी बच्चे, गरीब और मजदूर किसानों के हैं। मैं चाहता हूं कि यह गांव के स्कूल से पढ़कर एक काबिल इंसान बनें और अपनी योग्यता के बल पर उच्च पदों पर पहुंचे और अपने गांव का नाम रोशन कर देश और प्रदेश में अपनी पहचान बनाए।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned