गूगल अकाउंट की सुरक्षा है बेहद जरूरी, अपने स्मार्टफोन को बनाएं इसकी चाबी

Abhishek Sharma

Updated: 23 Aug 2019, 04:55:11 PM (IST)

स्‍पेशल

स्मार्टफोन यूजर्स में से अधिकांश ऐसे हैं जो एंड्रायड ऑपरेटिंग सिस्टम आधारित प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हैं। एंड्रायड एनेबल इन स्मार्टफोन का संचालन गूगल अकाउंट से होता है। चाहे वह एप डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर का इस्तेमाल हो या वीडियो देखने के लिए यूट्यूब चलाना। किसी को ई-मेल भेजना होता है तो आप जीमेल का उपयोग करते हैं। कई बार गूगल अकाउंट से आपका व्यवसाय और नौकरी के काम भी जुड़े होते हैं। इनमें आपके कॉन्टेक्ट, बैंकिंग इंफो, मीटिंग डिटेल्स और बहुत सी गोपनीय जानकारियां होती हैं। ऐसे में जरा सोचिए कि यदि आपके गूगल अकाउंट में सेंध लग जाए तो आपका कितना बड़ा नुकसान हो सकता है। इसलिए गूगल अकाउंट की सुरक्षा बेहद जरूरी है। आधुनिक सेफ्टी फीचर्स के जरिए आप अपने स्मार्टफोन को गूगल अकाउंट की चाबी बना सकते हैं। जब आपका स्मार्टफोन आपके पास होगा या आप चाहेंगे, तभी गूगल अकाउंट का एक्सेस हो सकेगा। इसके लिए आपको कुछ आसान चरणों से गुजरना होगा।

एंड्रायड 7.0 या इससे ऊपर के ओएस पर करेगा काम

यूजर्स अकाउंट लॉग-इन करते समय अपने एंड्रायड स्मार्टफोन का 'फिजिकल सिक्यूरिटी की' की तरह यूज कर सकते हैं। इस तरह टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन काफी आसान हो जाएगा। एंड्रायड 7.0 या इससे अपग्रेड ओएस वाला कोई भी यूजर अपने फोन को एक चाबी की तरफ इस्तेमाल कर सकता है। खास बात तो यह है कि इस फीचर का यूज करने के लिए फोन का मोबाइल नेटवर्क से कनेक्टेड होना भी जरूरी नहीं है। बस आपको अपने एंड्रायड फोन को क्रोम ब्राउजर के साथ ब्लूटूथ की मदद से कनेक्ट करना होगा और लॉग-इन वेरिफाई करना होगा। इसमें इस्तेमाल टाइटन सिक्यॉरिटी-की एक चाबी जैसा डिवाइस है, जिसे गूगल ऑथेंटिकेशन के लिए यूज किया जा सकता है। इस तरह कोई भी व्यक्ति आपका पासवर्ड जानने के बाद भी लॉग-नहीं कर सकता क्योंकि उसके पास यह फिजिकल-की नहीं होती।

इन चरणों का करें पालन

आप अपने फोन को फिजिकल सिक्योरिटी की बना सकते हैं। बस आपको कुछ स्टैप्स का पालन करना होगा।

स्टेप1: सबसे पहले अपने विंडोज, क्रोमओएस या मैकओएस पर गूगल क्रोम ब्राउजर ओपन करिए।
स्टेप2: अपने एंड्रायड फोन में गूगल अकाउंट से लॉग-इन करें और ब्लूटूथ ऑन करें।
स्टेप3: अब क्रोम ब्राउजर में मायअकाउंट.गूगल.कॉम/सिक्यूरिटी पर जाएं और 'टू स्टेप वेरिफिकेशन' पर क्लिक करें।
स्टेप4: अगर आपने अब तक टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन सेटअप नहीं किया है तो यहां अपना मोबाइल नंबर डालकर इंस्ट्रक्शंस फॉलो करते हुए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन ऑन करें।
स्टेप5: यहां आपको सिक्यॉरिटी-की ऐड करने का ऑप्शन मिलेगा, इसके लिए सेकेंडरी मेथड्स लिस्ट स्क्रॉल करें और एड सिक्यूरिटी की पर क्लिक करें।
स्टेप6: यहां लिस्ट में दिख रहे ऑप्शंस में से अपने एंड्रायड डिवाइस को चुनें और इसके बाद एड पर क्लिक करें।
अब आपका फोन गूगल अकाउंट की सिक्यॉरिटी-की बन चुका है। ऐसे में किसी भी नए डिवाइस पर लॉग-इन करते वक्त आपके फोन पर एक प्रॉम्प्ट आएगा। फोन में दिखाए गए बटन पर टैप करने के बाद ही आपके अकाउंट में लॉग-इन किया जा सकेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned