नया कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 : पहली बार ग्राहकों को मिलेंगे नए अधिकार

आज से ग्राहकों को मिलेंगे कुछ नए अधिकार
नया कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 आज से होगा लागू

उपभोक्ता किसी भी उपभोक्ता अदालत में दर्ज करवा सकेगा मामला

By: Rakhi Hajela

Published: 20 Jul 2020, 09:19 AM IST


उपभोक्ताओं को पहले से और भी मजबूत बनाने और ज्यादा अधिकार देने के लिए 34 साल बाद नया कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 आज से लागू कर दिया जाएगा। नया कानून कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 1986 का स्थान लेगा। नए कानून में ग्राहकों को पहली बार नए अधिकार मिलेंगे। उपभोक्ता किसी भी उपभोक्ता न्यायालयों में मामला दर्ज करा सकेगा, पहले के कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 1986 में ऐसा कोई प्रावधान नहीं था। आज से इस कानून के लागू हो जाने के बाद उपभोक्ता से संबंधित की शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई शुरू हो जाएगी। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान इस कानून को लेकर आज राम विलास पासवान मीडिया को भी संबोधित करेंगे।
भ्रामक विज्ञापन पर होगी कार्रवाई
नए कानून में उपभोक्ताओं को भ्रामक विज्ञापन जारी करने पर भी कार्रवाई की जाएगी। नए उपभोक्ता कानून आने के बाद उपभोक्ता विवादों को समय परए प्रभावी और त्वरित गति से निपटारा किया जा सकेगा। नए कानून के तहत उपभोक्ता अदालतों के साथ.साथ एक केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण बनाया गया है। इस प्राधिकरण का गठन उपभोक्ता के हितों की रक्षा कठोरता से हो इसके लिए की गई है। नए कानून में उपभोक्ता किसी भी सामान को खरीदने से पहले भी उस सामान की गुणवत्ता की शिकायत सीसीपीए में कर सकती है।
अब सेलेब्रिटीज पर होगी कार्रवाई
इस कानून में में प्रावधान किया गया है कि अगर उपभोक्ताओं को लुभाने के लिए भ्रामक विज्ञापन किए जाते हैं तो कंपनी के साथ.साथ प्रचार करने वाले सेलेब्रिटीज पर भी कार्रवाई की जाएगी, इसलिए अब उन्हें अब पहले से ज्यादा सावधान होना होगा। नए कानून में उत्पाद से संबंधित कोई भी गलत जानकारी उस विज्ञापन को करने वाले सेलेब्रेटी को मुश्किल में डाल सकता है।
आसानी से दर्ज करा सकेंगे मामला
कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 लागू हो जाने के बाद उपभोक्ता किसी भी उपभोक्ता न्यायालयों में मामला दर्ज करा सकेगा। पहले के कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 1986 में ऐसा कोई प्रावधान नहीं था। इसको आप ऐसे समझ सकते हैं।
मान लीजिए कि आप राजस्थान के रहने वाले हैं और गुरुग्राम में सामान खरीदते हैं। गुरुग्राम के बाद आप फरीदाबाद चले जाते हैं और वहां पता चलता है कि आपने जो सामान खरीदा है उसमें खराबी है तो आप फरीदाबाद के ही किसी उपभोक्ता फोरम में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। अगर आप ग्रुरुग्राम लौट जाते हैं तो आप नजदीक के किसी भी उपभोक्ता फोरम में उसकी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। पहले के उपभोक्ता कानून में इस तरह की सुविधा नहीं थी।
कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 की प्रमुख विशेषताएं
केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण का मुख्य उद्देश्य उपभोक्ताओं के अधिकारों की रक्षा करना होगा। इसके साथ.साथ अनुचित व्यापारिक गतिविधियां, भ्रामक विज्ञापनों और उपभोक्ता अधिकारों के उल्लंघन से संबंधित मामलों को भी देखेगा। प्राधिकरण के पास अधिकार होगा कि वह भ्रामक या झूठे विज्ञापन बनाने वालों और उनका प्रचार.प्रसार करने वालों पर जुर्माना लगाए। प्राधिकरण 2 वर्ष से लेकर 5 साल तक की कैद की सजा सुनाने के साथ.साथ 50 लाख रुपए तक जुर्माना वसूल सकता है।

उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग का गठन
इस आयोग का काम होगा कि अगर आपसे कोई अधिक मूल्य वसूलता है, आपके साथ अनुचित व्यवहार करता है, जीवन के लिए खतरनाक और दोषपूर्ण वस्तुओं और सेवाओं की बिक्री की जाती है तो इसकी शिकायत सीडीआरसी सुनेगी और फैसला सुनाएगी।
कब बना था पहला उपभोक्ता कानून ?
देशभर की उपभोक्ता अदालतों में बड़ी संख्या में लंबित उपभोक्ता शिकायतों को हल करने के लिए भी इस अधिनियम का गठन किया गया है। नए कानून में उपभोक्ता शिकायतों को तेजी से हल करने के तरीके और साधन दोनों का प्रावधान किया गया है। 24 दिसंबर 1986 को देश में पहला उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 पारित किया गया था। इसके बाद 1993, 2002 और 2019 में इसमें संशोधन किया गया।
एक्ट से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य
जनहित याचिका अब कंज्यूमर फोरम में फाइल की जा सकेगी। पहले एेसा नहीं था।
नए कानून में ऑनलाइन और टेलीशॉपिग कंपनियों को पहली बार शामिल किया गया है।
खाने.पीने की चीजों में मिलावट तो कंपनियों पर जुर्माना और जेल का प्रावधान।
कंज्यूमर मीडिएशन सेल का गठन, दोनों पक्ष आपसी सहमति से मीडिएशन सेल जा सकेंगे।
कंज्यूमर फोरम में एक करोड़ रुपए तक के केस।
स्टेट कंज्यूमर डिस्प्यूट रिड्रेसल कमीशन में एक करोड़ से दस करोड़ रुपए
नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट रिड्रेसल कमीशन में दस करोड़ रुपए से ऊपर केसों की सुनवाई
कैरी बैग के पैसे वसूलना कानूनन गलत
सिनेमा हॉल में खाने.पीने की वस्तुओं पर ज्यादा पैसे लेने वालों की अगर मिलती है शिकायत तो होगी कार्रवाई।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned