गर्ल पॉवर: 9 साल की अजना ने लॉकडाउन में लिखी किताब, अब हुई प्रकाशित

दिल्ली की रहने वाली अजना द्विवेदी ने लॉकडाउन के दौरान समय बिताने के लिए जो कुछ लिखा उसे किताब के रूप में पब्लिश करवाया है

By: Mohmad Imran

Published: 02 Sep 2020, 04:37 PM IST

बीते कुछ महीनों से कोरोना महामारी (CORONA VIRUS COVID-19) के चलते पहले लॉकडाउन (Lockdown) और अब वर्क फ्रॉम होम (Work from Home) ने हमारी जिंदगी को बिल्कुल बदलकर रख दिया है। लेकिन बदलाव की इन इबारतों को लिखने के लिए कलम उम्र की मोहताज नहीं होती। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है दिल्ली की नौ साल की अजना द्धिवेदी ने। दरअसल, लॉकडाउन के समय अजना ने स्कूल बंद होने के बाद घर पर अपनी रोजमर्रा की गतिविधियों और जिंदगी में आ रहे बदलावों को कलमबद्ध करना शुरू किया था। उनका यह शौक धीरे-धीरे आदत में बदल गया और उन्होंने लॉकडाउन के कुछ महिनों में ही 120 पेजों पर 20 हजार से ज्यादा शब्दों में अपने अनुभव को उकेर दिया। अब उन्होंने अपने इस काम को एक किताब की शक्ल में लोगों के सामने प्रस्तुत किया है।

गर्ल पॉवर: 9 साल की अजना ने लॉकडाउन में लिखी किताब, अब हुई प्रकाशित

सबसे युवा लेखिकाओं में शामिल
अजना का लेखन कार्य भले ही समय बिताने के लिए डायरी में नोट्स बनाने के तौर पर शुरू हुआ हो लेकिन उनकी किताब ने उन्हें देश की सबसे युवा महिला लेखिकाओं के क्लब में शामिल करवा दिया है।उनकी किताब 'द एडवेंचर्स ऑफ अन्वी' (The Adventures of Anvi) को बिगसी मारकॉम पब्लिशिंग हाउस ने प्रकाशित किया है।
ब्लॉगर भी हैं अजना
उनके लेखन की शुरुआत एक साल पहले तब शुरू हुई जब अजना ने अपनी मां वर्तिका द्धिवेदी से एक मिनी-ब्लॉगर पेज बनाकर देने के लिए कहा जहां वे दुनिया के साथ अपने विचार साझा कर सकें। किताबें पढऩे की शौकीन अजना खुद को बुक बर्ड और किताबी कीड़ा कहती हैं। लॉकडाउन के खुलने के बाद उन्होंने रात-रातभर जागकर अपनी किताब को पूरा किया ताकि वे स्कूल खुलने से पहले इसे पूरा कर सकें।

गर्ल पॉवर: 9 साल की अजना ने लॉकडाउन में लिखी किताब, अब हुई प्रकाशित

जीव-जंतुओं के हक की बात
किताब में अजना ने लॉकडाउन और उससे पहले जीव-जंतुओं के प्रति इंसानों की जिम्मेदारी पर सवाल उठाते हुए लिखा है कि यह दुनिया इन जीवों की भी है। किताब में उन्होंने एक लड़की के जीवन के संघर्ष, प्यार, उम्मीद और दोस्ती जैसी भावनाओं को कहानियों के रूप में पन्ना दर पन्ना कहने की कोशिश की है। किताब में उन्होंने जिम्मेदारी के साथ अच्छे काम करने की बात कही है।

Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned