निर्जला एकादशी पर छोटी काशी में बही धर्म की बयार

Devendra Singh

Updated: 13 Jun 2019, 02:17:59 PM (IST)

स्‍पेशल

जयपुर। जेष्ठ शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली निर्जला एकादशी आज गुरुवार को छोटी काशी कहे जाने वाले जयपुर में श्रद्धा व उल्लास के साथ मनाई जा रही है। लोग निर्जल रह कर इस व्रत को कर रहे हैं। मंगला आरती से ही मंदिरों में ठाकुरजी के दर्शनों के लिए ही श्रद्धालुओं का तांता लगना शुरू हो गया था, जो दिनभर चला। लोग शक्कर युक्त जल से भरा मिट्टी का घड़ा, खरबूजा, आम, कमल ककड़ी, पंखी ठाकुरजी के समक्ष अर्पण कर पुण्यार्जन कर रहे हैं। इस दिन पवित्र सरोवर या नदी में स्नान का विशेष महत्व होने से लोग गलता में स्नान करने भी पहुंच रहे हैं। पौराणिक मान्यता है कि इस एकादशी को करने भर से वर्ष की 24 एकादशियों के व्रत के समान फल मिलता है। यह व्रत करने के पश्चात द्वादशी तिथि में ब्रह्मा बेला में उठकर स्नान, दान तथा ब्राह्माण को भोजन कराना चाहिए। इस एकादशी को भीमसेनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। पंडित सुरेश शास्त्री के अनुसार इस एकादशी को भीमसेन ने धारण किया था। इसी वजह से इस एकादशी का नाम भीमसेनी एकादशी पडा। आज शहर के मंदिरों में जलयात्रा उत्सव मनाए जाएंगे। इस मौके पर ठाकुरजी को नवीन पौशाक धारण करवा कर ऋतुफलों एवं व्यंजनों का भोग लगाया जाएगा। जन जन के आराध्य गोविन्ददेवजी मंदिर में महंत अजंनकुमार गोस्वामी के सान्निध्य में प्रात: ठाकुरजी का अभिषेक कर नूतन पौशाक धारण करवाई गई। मंगला झांकी से ही दर्शनार्थियों तांता लगना शुरू हो गया था। मानस गोस्वामी ने बताया कि शाम ग्वाल झांकी में 5.45 से 6.15 बजे तक जल विहार की झांकी सजाई जाएगी। । उधर देवस्थान विभाग के चांदनी चौक स्थित मंदिर ब्रजनिधिजी एवं आनंदकृष्ण बिहारीजी में दोपहर 1 से 1.30 बजे तक जलयात्रा की झांकी सजाई गई। शुक संप्रदाय आचार्य पीठ सरस निकुंज पानों का दरीबा में शुक पीठाचार्य अलबेली माधुरी शरण के सान्निध्य में सरस परिकर की ओर से शाम 7 से रात्रि 9.30 बजे तक फूल बंगले की झांकी सजाई जाएगी। इस मौके पर भजन मंडलियां पदों का गायन करेंगी। गोनेर स्थित लक्ष्मीजगदीश महाराज के मंदिर में भी सुबह से ही भक्तों का तांता लगा रहा। वहीं गलता गेट स्थित गीता गायत्री मंदिर में गायत्री जयंती मनाई जा रही है। शहर में दिनभर दान पुण्य का दौर चला। जगह जगह पर शीतल पेय पिलया जा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned