उद्यमशीलता पर शोध में युवाओं का बढ़ा रुझान

Dhirendra Mishra

Publish: Nov, 15 2017 01:17:39 (IST)

Special
उद्यमशीलता पर शोध में युवाओं का बढ़ा रुझान

उद्यमशीलता में पीएचडी करना या कराना शैक्षिक संस्थानों की प्राथमिकताओं में शामिल नहीं रहा है। अब पहले की तुलना अधिक युवा इस विषय में शोध करते हैं।

आईएमएम बेंगलूरु...
देश के विभिन्न यूनिवर्सिटीज में उद्यमशीलता पर पीएचडी करने वाले युवाओं की संख्या पहले की तुलना में बढ़ी है। देश के प्रतिष्ठित आईआईएम में भी इस पर कभी कोई शोध नहीं हुआ। बदले माहौल में आईआईएम बेंगलूरु ने उद्यमशीलता पर पीएचडी कराने का निर्णय लिया है। आईएमएम बेंगलूरु का पीएचडी शुरू कराने के पीछे तर्क है कि इससे देश में उद्यमिता को बढ़ावा मिलेगा। यह नई विश्व व्यवस्था में स्थानीय स्तर पर ग्लोबल लीडर को पैदा करने में सहायक होगा। नए रुझान को नवाचार के जानकार स्टार्टअप इंडिया अभियान का सीधा प्रभाव मानते हैं।

1990 के बाद मिला बढ़ावा
अकादमिक और कारोबारी क्षेत्र में उद्यमशीलता को 1990 के बाद नई औद्योगिक नीति और उदारीकरण की नीति से बढ़ावा मिला, जो अब जोर पकड़ रहा है।

मराठवाड़ा विवि में सबसे ज्यादा
डॉ. अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय औरंगाबाद में सबसे ज्यादा पीएचडी हुए हैं। यहां से पीएचडी करने वालों की संख्या 13 है, जो कुल शोधर्थियों का 7.4त्न है। दूसरा नंबर उस्मानिया यूनिवर्सिटी का है। यहां से 10 युवाओं ने पीएचडी की है।

पहला शोध गुजरात विवि में..
उद्यमशीलता पर शोध की शुरुआत गुजरात से शुरू हुई। गुजरात विवि ने अभी तक नौ पीएचडी कराए हैं।
शोध क्यों
देश में उद्यमशीलता को बढ़ावा देना, उद्यमशीलता पर नियमित शोध का हिस्सा बनाना, ताकि नवाचार के क्षेत्र में बेहतर वातावरण का निर्माण हो सके। शिक्षा और उद्योग में सहयोग पर जोर।

16 साल, 177 पीएचडी
अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक 16 सालों में देश के 66 यूनिवर्सिटीज में उद्यमशीलता पर 177 युवाओं ने पीएचडी की है। इनमें से 26 यूनिवर्सिटी में एक-एक छात्र व 40 विवि में एक या अधिक छात्रों ने शोध पत्र तैयार किया है।


उद्यमशीलता पर शोध वाले प्रमुख राज्य
महाराष्ट्र २५
कर्नाटक १८
मध्य प्रदेश १५
आंध्र प्रदेश १२
तेलांगना १२


अध्ययन के मुख्य बिंदु
- 740 मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय पर शोध
- 66 विश्वविद्यालयों में उद्यमशीलता पर शोध किया
- महिला उद्यमशीलता सबसे ज्यादा पसंदीदा विषय
- पुरुष शोधकर्ता - 104
- महिला शोधकर्ता - 73
- अंग्रेजी भाषा में पीएचडी किए गए - 167
- पीएचडी हिंदी में किया गया - 10

भारतीय विश्वविद्यालयों की संख्या
कुल विश्वविद्यालय - 819
केन्द्रीय विश्वविद्यालय - 47
राज्य विश्वविद्यालय 367
डीम्ड विश्वविद्यालय - 123
निजी विश्वविद्यालय - 282

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned