वैज्ञानिकों के हाथ लगा कुछ ऐसा जिससे पता चला कि हमारे पूर्वज बिना प्राणवायु के जीवित थे

वैज्ञानिकों के हाथ लगा कुछ ऐसा जिससे पता चला कि हमारे पूर्वज बिना प्राणवायु के जीवित थे

Arijita Sen | Publish: Feb, 15 2018 10:07:47 AM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 10:21:28 AM (IST) स्‍पेशल

जीवन के शुरुआत में धरती पर ऑक्सीजन नहीं होती थी

नई दिल्ली। जीने के लिए सबसे ज्य़ादा ज़रूरत ऑक्सीजन की होती है और यदि वो ही न हो तो इंसान एक पल भी जि़ंदा नहीं रह सकता है लेकिन वैज्ञानिकों ने एक ऐसे बात का खुलासा किया है जिसे मानना नामुमकिन है। उनका कहना है कि एक वक्त दुनिया में ऐसा था जब लोग बिना ऑक्सीजन के रहते थे। इस बात का पता वैज्ञानिकों को 2.52 अरब साल पुराने बैक्‍टीरिया जीवाश्‍म चला है ।

वैज्ञानिक कहते हैं कि जीवन के शुरुआत में धरती पर ऑक्सीजन नहीं होती थी और तब हमारे पूर्वज ऐसे ही जिंदा रहते थे। उनका ये भी कहना है कि आज से करीब 4.5 करोड़ साल पहले ये जीवाश्म शुरु हुए थे जो ऑक्सीजन को पैदा करने वाले थे और इनके आने के बाद ही ऑक्सीजन अस्तित्व में आया।

वैज्ञानिकों का ये भी कहना है कि बिना ऑक्सीजन के जिंदा रह पाना कैसे मुमकिन था इस बारे में रिसर्च किया जाना अभी बाकी है।

रिसर्च से पता लगा है कि उस समय दुनिया में लोगों के पास ऑक्सीजन नहीं होती थी या फिर बहुत ही ना के बराबर होती थी तो ऐसे में लोग कैसे जिंदा रहते थे। इस बात के खुलासे के लिए वैज्ञानिक प्रयासरत है लेकिन अभी भी कुछ निष्कर्ष नहीं निकालें जा सके ।

Oxygen

बता दें कि वैज्ञानिको ने नॉर्थ अमेरिका के एक प्रांत से एक ऐसे जीवाश्म की खोज की है जो दुनिया के शुरुआती दिनों का था लेकिन उसमें ऑक्सीजन की मात्रा नहीं थी इससे एक बात तो साफ है कि शुरुआती दिनों में इंसान बिना ऑक्सीजन के रहते थे जो बेहद चौंकाने वाला है।

वैज्ञानिको ंका इस बात का पता लगाने के प्रयास जारी है और जिस भी दिन इसका पता लगा वो एक बहुत बड़ी उपलब्धि होगी। विज्ञान जगत के साथ आम लोगों को भी इस खुलासे का बड़ा बेसब्री से इंतज़ार है और ये खुलासा प्राणी जगत में एक क्रान्ति से कम नहीं होगी।

 

Ancestors
Ad Block is Banned