चलते चलते मेरे ये गीत याद रखना, कभी अलविदा न कहना... किशोरकुमार

किशोरकुमार की आवाज में गाते हैं जोधपुर के बी किशोर

By: M I Zahir

Published: 06 Aug 2018, 08:00 AM IST

स्‍पेशल

जोधपुर
चलते चलते मेरे ये गीत याद रखना, कभी अलविदा न कहना...। महान गायक किशोरकुमार की सुरीली आवाज, अल्हड़पन और अलग अलग मूड में उनका गायन रसिक श्रोताओं को आज भी उनकी याद दिलाता है। उनके प्रशंसक उनके दीवाने हैं और उनकी पुरकशिश आवाज को आज भी याद करते हैं। आइए बी किशोर की आवाज में नगमे सुन कर किशोरकुमार को याद करते हैं..।
महान गायक किशोरकुमार की सुरीली आवाज, अल्हड़पन,दिलकश आवाज, खनकती आवाज, कर्णप्रिय आवाज, सुरीली आवाज, खूबसूरत आवाज ...और अलग अलग मूड में उनका गायन रसिक श्रोताओं को आज भी उनकी याद दिलाता है। उनके प्रशंसक उनके दीवाने हैं और उनकी पुरकशिश आवाज को आज भी याद करते हैं। जोधपुर के गायक बी किशोर किशोरकुमार के दीवाने हैं। बी किशोर की आवाज सुनते वक्त आपको यही लगेगा कि साक्षात किशोरकुमार ही गा रहे हैं। वही किशोर कुमार सी शोखी, वही अल्हड़पन, वही मचलती आवाज। आइए बी किशोर की आवाज में नगमे सुन कर किशोरकुमार को याद करते हैं...

 

किशोर दा मेरे आदर्श हैं : बी किशोर

जोधपुर के गायक बी किशोर की पहचान ही यह है कि वे किशोरकुमार की आवाज में गाने गाते हैं। वे पूरी तरह किशोरकुमार हो चुके हैं। किशोरकुमार जयंती पर भी उन्होंने उन्हें खूब याद किया। वे कहते हैं- किशोर दा मेरे आदर्श हैं। किशोर दा मेरे भगवान हैं। वो एक अदभुत हरफनमौला गायक हैं। वो युवा दिलों की धड़कन है। मैं यही कहूंगा कि
किशोर दा हजारों सालों में एक बार जन्म लेते हैं। उनकी ऊंचाई छूने की कल्पना भी नहीं की जा सकती। यह इन्सानों के वश की बात नहीं है। उन्हें मैं देश के महान कलाकार मानता हूं। क्यों कि वे न केवल अच्छे गायक,बल्कि
अभिनेता, संगीतकार, निर्माता और निर्देशक भी थे। उन्हें एक संपूर्ण कलाकार कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी। मैं किशोर दा के गीत गा कर ही बड़ा हुआ हूं।

... जोधपुर में फैन्स के बारे में पूछा था
आम तौर पर मुकेश की आवाज में गाने गाने वाले जोधपुर के जाने माने गायक और संगीत निर्देशक ए के व्यास ने बताया कि मेरी किशोरकुमार से मुंबई में कई बार मुलाकात हुई। उस वक्त वो मैंने जीना ...गीत की रिकॉर्डिंग कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने मुझसे पूछा था कि मैं जोधपुर आने वाला हूं, क्या वहां मेरे फैन्स हैं?किशोरकुमार मूडी होने के बावजूद हंसमुख व्यक्तित्व के धनी थे। वे खबरें भी गीतों की तरह पढ़ते थे और वो भी सुर ताल के साथ। उनका यह
अंदाज लाजवाब था।
...

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned