She News : हर्षिता से सीखें, कैसे आपदा को अवसर में बदलें और बनाएं पहचान

जोधपुर की हर्षिता टांक के लिए लॉकडाउन आपदा में अवसर साबित हुआ। उन्होंने घर पर ही केक एवं बेकरी के उत्पाद बनाना सीखा और वे अब अपनी पढ़ाई के साथ महिलाओं को यह काम सिखा भी रही हैं, ताकि उनकी तरह अन्य महिलाएं भी आत्मनिर्भर बन सकें।

By: Neeru Yadav

Published: 12 Apr 2021, 07:06 PM IST

जयकुमार भाटी. जोधपुर. स्नातक कर रहीं हर्षिता टांक के लिए लॉकडाउन आपदा में अवसर साबित हुआ। इस समय का सदुपयोग करते हुए उन्होंने घर पर ही केक एवं बेकरी के उत्पाद बनाना सीखा और इस काम में पारंगत हुईं तो अब अन्य महिलाओं को यह काम सिखा रही हैं।

उन्होंने केक व सेहतमंद बेकरी उत्पाद बनाने का ऑनलाइन प्रोग्राम भी तैयार किया है। उनके बनाए केक और पेस्ट्री लोगों को काफी पसंद आ रहे हैं। वे कहती हैं कि कभी सोचा नहीं था कि ये हुनर मुझे खुद से रूबरू कराएगा। मेरे काम की वजह से मुझे पहचान मिल रही है, ये देखकर अच्छा लगता है।

...ताकि बनें आत्मनिर्भर

हर्षिता कहती हैं कि लॉकडाउन खुलने के बाद उनसे कई महिलाओं ने बेकरी उत्पाद सीखने के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन सम्पर्क किया। वे अब अपनी पढ़ाई के साथ महिलाओं को यह काम सिखा भी रही हैं, ताकि उनकी तरह अन्य महिलाएं भी आत्मनिर्भर बन सकें। इसके साथ ही लोगों की मांग के अनुरूप वे केक और अन्य बेकरी उत्पाद के ऑर्डर भी लेती हैं। वे कहती हैं कि इस काम में उन्हें अपने माता-पिता का पूरा सहयोग मिला है।

ऐसे तैयार करती हैं सेहतमंद केक
वे कहती हैं कि अभी मैं अंडा रहित केक, पेस्ट्री व अन्य बेकरी उत्पाद बनाती हूं। अंडे की जगह सिरका व बेकिंग सोडा के इस्तेमाल से केक व बे्रड को मुलायम बनाती हूं। सोडा वॉटर व नट बटर से केक स्वादिष्ट बनता है। वहीं पौष्टिक फ्रू ट केक, चॉकलेट, पेस्ट्री, नानखटाई, ओट्स कुकीज, सूजी बिस्किट, सूजी केक, बादाम व काजू बिस्किट जैसे उत्पाद लोगों की मांग के अनुसार तैयार कर रही हूं, क्योंकि कोरोना की वजह से पौष्टिक उत्पादों को लोग प्राथमिकता देने लगे हैं।

लोगों के स्वास्थ्य और वजन का ख्याल
हर्षिता कहती हैं कि मैं अपने बेकरी उत्पाद बनाते समय यह जरूर ध्यान रखती हूं कि उनमें ऐसी चीजों का इस्तेमाल जरूर हो, जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो। उन्हें खाने से वजन न बढ़े। इसके लिए आटे के साथ ओट्स (जई) और सूजी का प्रयोग करती हूं। ओट्स से बनी कुकीज अच्छा विकल्प है, जिससे वजन नियंत्रण में रहता है। सूजी के केक, पेस्ट्री, बिस्किट व टोस्ट भी बनाए जा रहे हैं, जिससे हृदय रोगी भी उपयोग कर सकते हैं।

Neeru Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned