डॉक्टरों ने 3 महीने आराम को बोला है, फिर भी भारतीयों के लिए सक्रिय हैं सुषमा 

डॉक्टरों ने 3 महीने आराम को बोला है, फिर भी भारतीयों के लिए सक्रिय हैं सुषमा 
Back from hospital, Sushma Swaraj works from home

सुषमा स्वराज को चार दिन पहले ही 19 दिसंबर को एम्‍स से डिस्‍चार्ज किया गया था। डॉक्टरों ने उन्‍हें कम से कम तीन महीने तक किसी से मुलाकात करने की इजाजत नहीं दी और पूरी तरह से आराम को कहा। 


नई दिल्ली. शारीरिक रूप से अस्वस्थ होने के बावजूद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विदेश में फंसे भारतीय की मदद के लिए आगे आईं हैं। बता दें कि अभी हाल ही में किडनी ट्रांसप्‍लांट के बाद उन्हें छुट्टी छुट्टी देकर डॉक्टरों ने तीन महीने बेड रेस्ट को कहा है। बावजूद वे घर से ही जरूरी काम देख रही हैं। भारतीयों की मदद के लिए उनका काम अब भी जारी है। गुरुवार को उन्होंने नॉर्वे में फंसे भारतीय की मदद को लेकर राजदूत से रिपोर्ट तलब किया। 


नार्वे में भारतीय की मदद के लिए सक्रीय हुईं सुषमा 
दरअसल, नॉर्वे में एक भारतीय कपल से उसका बच्चा छीन लिया गया है। इस बारे में मदद की गुहार के साथ भाजपा नेता विजय जोली द्वारा पत्र लिखे जाने के बाद सुषमा स्वराज सक्रिय हो गईं। दरअसल, ओस्ले में आधारहीन शिकायत के आधार पर एक भारतीय कपल के बच्चे को वहां के बाल कल्याण विभाग ने अपने कब्जे में ले लिया। इस मामले में सुषमा ने वहां मौजूद भारतीय राजदूत को जरूरी सहयोग देने का निर्देश देते हुए रिपोर्ट मांगी हैं। इसबारे में उन्होंने ट्विटर पर एक स्टेटस भी लिखा है। 

चार दिन पहले ही एम्‍स से डिस्‍चार्ज हुई हैं सुषमा  
सुषमा स्वराज को चार दिन पहले ही 19 दिसंबर को एम्‍स से डिस्‍चार्ज किया गया था। डॉक्टरों ने उन्‍हें कम से कम तीन महीने तक किसी से मुलाकात करने की इजाजत नहीं दी और पूरी तरह से आराम को कहा। लेकिन वे ट्विटर के जरिए अपने काम को जारी रखे हुए हैं। बता दें कि ट्विटर डिप्लोमेसी के लिए उन्हें इस साल ग्लोबल थिंकर 2016 में जगह मिली थी।

नॉर्वे में भारतीयों से बच्चे छीनने के कई मामले 
नॉर्वे में भारतीयों से वहां के बाल कल्याण विभाग द्वारा बच्चे को कब्जे में लिए जाने के कई मामले सामने आए हैं। पिछले पांच साल में यह तीसरा मामला है, जिसे लेकर भाजपा नेता विजय जॉली ने विदेश मंत्री को पत्र लिखा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned