scriptनैनवां व हिण्डोली के महाविद्यालयों की बदलेगी सूरत,बढ़ेगी सुविधाएं | Patrika News
खास खबर

नैनवां व हिण्डोली के महाविद्यालयों की बदलेगी सूरत,बढ़ेगी सुविधाएं

प्रदेश के 26 राजकीय महाविद्यालयों का जल्द कायाकल्प होगा। केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री उच्चतर शिक्षा अभियान (पीएम-उषा) के तहत प्रत्येक जिले को 5 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है।

बूंदीJun 17, 2024 / 05:00 pm

पंकज जोशी

नैनवां व हिण्डोली के महाविद्यालयों की बदलेगी सूरत,बढ़ेगी सुविधाएं

नैनवां का राजकीय महाविद्यालय।

बूंदी. प्रदेश के 26 राजकीय महाविद्यालयों का जल्द कायाकल्प होगा। केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री उच्चतर शिक्षा अभियान (पीएम-उषा) के तहत प्रत्येक जिले को 5 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है। इस योजना के तहत बूंदी के भगवान आदिनाथ जय-राज मारवाड़ा राजकीय महाविद्यालय नैनवां व हिण्डोली का राजकीय महाविद्यालय का बजट के तहत आधुनिकीकरण होगा। केन्द्र के शिक्षा मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग ने इन कॉलेजों को मजबूत करने तथा नए मॉडल डिग्री कॉलेज के रूप में विकसित करने के लिए 5-5 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री उच्चतर शिक्षा अभियान की पीएबी बैठक गत दिनों वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई थी। बैठक में योजना के दिशा-निर्देशों के अनुसार राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों की ओर से चिह्नित किए गए फोकस जिलों में शिक्षा के मानक बेहतर बनाने पर विशेष ध्यान देने की बात की गई। इस योजना के तहत कॉलेजों का कायाकल्प होने के साथ आधुनिकीकरण भी होगा। इस योजना के तहत देश के 321 कॉलेजों को लिए अलग-अलग बजट जारी हुआ है।

इन जिलों के महाविद्यालय होंगे लाभांवित
पीएम-उषा योजना के तहत प्रदेश के कुल 26 महाविद्यालयों को 5-5 करोड़ रुपए की अनुदान राशि स्वीकृत की गई है। इसमें बांसवाड़ा का सरकारी महाविद्यालय सज्जनगढ़, बारां का शाहबाद व छबड़ा महाविद्यालय, बाड़मेर का बायतु व सिवाना महाविद्यालय, भरतपुर का नगर महाविद्यालय, भीलवाड़ा का आसिंद महाविद्यालय, बूंदी का नैनवां व हिंडोली महाविद्यालय, धौलपुर के बाड़ी राजकीय महाविद्यालय व कन्या महाविद्यालय शामिल है। इसी प्रकार डूंगरपुर का सागवाड़ा महाविद्यालय, जैसलमेर का पोकरण महाविद्यालय, जालोर जिले के भीनमाल, राजकीय कॉलेज व कन्या महाविद्यालय, झालावाड़ के पीड़ावा, नागौर का जायल, कन्या महाविद्यालय व खींवसर महाविद्यालय, पाली के सोजत सिटी व सुमेरपुर महाविद्यालय, प्रतापगढ़ के धरियावाद, पीजी कॉलेज, राजसमंद का कन्या महाविद्यालय व देवगढ़ राजकीय कॉलेज शामिल हैं।
राजस्थान पत्रिका ने अभियान चलाकर सरकारी कराया
नैनवां में वर्ष 2003 में भगवान आदिनाथ जयराज मारवाड़ा स्ववित्तपोषी महाविद्यालय की स्थापना हुई थी, जिसका संचालन विद्यालय विकास समिति द्वारा किया जाता था। महाविद्यालय को राजकीय का दर्जा दिलाने के लिए राजस्थान पत्रिका ने 5 मई 2018 से अभियान चलाया था। अभियान जन आंदोलन बना तो 2019 के बजट में तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस स्ववित्तपोषित महाविद्यालय को राजकीय किए जाने की घोषणा की थी। 2021 से राजकीय महाविद्यालय का पूर्ण दर्जा मिल गया था।
हिण्डोली कॉलेज में यह होंगे काम
प्राचार्य रमेशचंद मीणा ने बताया कि आडिटोरियम, स्पोर्ट रूम, स्मार्ट क्लासेज, सीसीटीवी कैमरे, लाइब्रेरी, 5 लाख की किताबें, आधुनिक चारदीवारी सहित अन्य कार्य होंगे।

Hindi News/ Special / नैनवां व हिण्डोली के महाविद्यालयों की बदलेगी सूरत,बढ़ेगी सुविधाएं

ट्रेंडिंग वीडियो