जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के लिए होगी अलग से 'थिएटर कमान'

जम्मू-कश्मीर की विशेष सुरक्षा ( J&K Security News )स्थिति से निपटने की लिए केन्द्र सरकार एक अलग से 'थिएटर कमान' ( A New Command will consitute) बनानी जा रहे है। मुख्य रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को कहा कि भारत जम्मू-कश्मीर में अलग 'थिएटर कमान' स्थापित करने की योजना बना रहा है।

By: Yogendra Yogi

Published: 17 Feb 2020, 05:32 PM IST

जम्मू: जम्मू-कश्मीर की विशेष सुरक्षा ( J&K Security News )स्थिति से निपटने की लिए केन्द्र सरकार एक अलग से 'थिएटर कमान' ( A New Command will consitute) बनानी जा रहे है। मुख्य रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को कहा कि भारत जम्मू-कश्मीर में अलग 'थिएटर कमान' स्थापित करने की योजना बना रहा है। जनरल रावत ने कहा कि वायु रक्षा कमान अगले साल की शुरुआत में और 'पेनिसुलर कमान' 2021 के अंत तक शुरू की जाएगी।

यह है योजना
उन्होंने आगे कहा कि भारतीय वायु सेना, भारतीय वायु रक्षा कमान के अधीन आएगी। लंबी दूरी की सभी मिसाइलें और वायु रक्षा से जुड़ी संपत्ति इसके दायरे में आएंगी। भारत जम्मू-कश्मीर में अलग 'थिएटर कमान' स्थापित करने की योजना बना रहा है। भारतीय नौसेना की पूर्वी और पश्चिमी कमान का विलय 'पेनिसुलर कमान' में किया जाएगा।प्रमुख रक्षा अध्यक्ष ने कहा कि 'भारत के पास अलग प्रशिक्षण और सैद्धांतिक कमान 'लॉजिस्टिक्स' कमान भी होगी।

आतंक विरोधी अभियान में तेजी आएगी
वर्तमान में जम्मू कश्मीर की आंतरिक सुरक्षा और सीमा की सुरक्षा का जिम्मा सेना की उत्तरी कमान और जम्मू के कुछ हिस्सों में सेना की पश्चिमी कमान पर है। जम्मू कश्मीर के डिविजन के बाद लद्दाख फि़लहाल उत्तरी कमान द्वारा संचालित 14 कोर के अधीन आता है। जबकि जम्मू कश्मीर में 9 कोर, 16 कोर और 15 कोर कार्यरत है। अलग से थिएटर कमान बनने में आतंक विरोधी अभियान में तेजी आएगी और सेना आसानी से सीमाओं की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित कर सकती है।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned