महिला की कांटेक्ट हिस्ट्री में मिले दो झोलाछाप

टीम पहुंची तो दोनों चला रहे थे क्लीनिक

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 07 Jul 2020, 07:07 AM IST

हटा. कोरोना संक्रमण काल में झोलाछापों के लिए अपनी दुकान चलाने की मनाही है, लेकिन हटा में दो झोलाछाप अपनी दवाई की दुकानें एलोपैथी दवाओं से संचालित करते मिले। दरअसल हटा स्वास्थ्य विभाग की टीम इन दोनों झोलाछापों के यहां हटा की रतन बजरिया की 78 वर्षीय महिला की कांटेक्ट हिस्ट्री की चैन खोजने गई थी। बताया जा रहा है कि महिला एक पुत्र जो पॉजीटिव पाया गया है इन दोनों झोलाछापों के यहां अपना इलाज कराने पहुंचा था। सोमवार की दोपहर स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग और पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए टीम जब मंदिर मस्जिद में झोलाछाप पप्पू विश्वकर्मा के यहां पहुंची तो यहां मरीज बैठे थे, दवाईयां फैली हुई थीं। झोलाछाप पप्पू विश्वकर्मा फरार था। संभवत: उसे टीम के आने की भनक लग गई थी। उसका पुत्र बॉटल लगाकर इलाज कर रहा था। टीम ने अवैध चिकित्सा कारोबार का विडियो बनाया। यहां भारी मात्राओं में दवाओं का भंडारण मिला जिसे टीम ने जब्त किया। इस झोलाछाप के यहां प्रतिदिन 100 से अधिक मरीज इलाज कराने आते हैं, यदि इसे पकड़कर सेंपल कराया गया और यह पॉजीटिव पाया गया तो चैन लंबी हो सकती है। इसके बाद पूरी टीम पेट्रोल पंप के पास स्थित झोलाछाप वीरेंद्र मोदी के यहां पहुंची जहां पर टीम ने आवश्यक कार्यवाही करते हुए इसे भी बंद कराया। इसे कोविड केयर सेंटर भेजा गया है। इसके अलावा एक नाई की दुकान व एक कम्प्यूटर ऑपरेटर को भी कोविड केयर सेंटर भेजा है, इनकी भी दुकाने बंद कराई गई हैं।
बीएमओ डॉ. पीडी करगैया ने सभी से अपील की हैं कि जो लोग संपर्क हिस्ट्री के संपर्क मे आए हैं। वो सभी लोग अस्पताल में आकर अपना चैकअप कराएं ताकि संक्रमण को रोका जा सके।

 
Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned