कोरोना के बढ़ते संक्रमण में पीछे हट रहे टीकाकरण से

3 दिनों में 350 कोरोना संक्रमित मिलने से टीकाकरण सेंटर में सन्नाटा

By: Mangal Singh Thakur

Published: 23 Apr 2021, 03:41 PM IST

मंडला. जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। जिले में अब तक कुल 2506 संदिग्धों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से 500 मरीज महज चार दिनों में सामने आए। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे और पिछले एक सप्ताह से कोरोना संक्रमितों के लगातार बढ़ते आंकड़े के बीच कोविड 19 से बचने के लिए हो रहा टीकाकरण कार्य पिछड़ गया है। अब लोगों में टीकाकरण को लेकर कई तरह की भ्रांतियां फैल रही है, जिसके चलते टीकाकरण कार्य पूरे जिले में जबर्दस्त तरीके से पिछड़ गया है। पिछले तीन चार दिनों में जिले भर में मात्र 175 टीके ही लगे जबकि 11 से 15 अप्रैल के बीच जिले भर में 15 हजार से अधिक लोगों को टीका लगाया गया था। अंदाजा लगाया जा सकता है कि अब जिलेवासी कोरोना टीकाकरण से किस कदर कतरा रहे हैं?
पहले उमड़ी भीड़
जिले में टीकाकरण से पिछडऩे की सबसे बड़ी वजह यह है कि कई तरह की भ्रांतियां समाज में फैल रही हैं। टीकाकरण के पहले चरण में जहां लोग टीका लगवाने में कोई रुचि नहीं ले रहे थे। वहीं दूसरे चरण में लोग कोवैक्सीन और कोविशील्ड का टीका लगवाने उमड़ पड़े। अव्यवस्था ऐसी फैली कि जिला प्रशासन को टीकाकरण केंद्र में व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस प्रशासन की मदद लेनी पड़ी, टीकाकरण सेंटरों के दरवाजे तक लगा दिए गए। ताकि उमड़ती भीड़ को सेंटर में प्रवेश से रोका जा सके।
पहले परामर्श जरूरी
कोविड 19 के टीकाकरण से पहले भी चिकित्सकीय परामर्श बेहद जरूरी है। इस बारे में जानकारी देते हुए नोडल अधिकारी डॉ वायके झारिया ने बताया कि टीका लगाने से पहले सेंटर में लोगों के बुखार, सर्दी जुकाम आदि की जांच पड़ताल की जाती है। यदि किसी में इसके लक्षण दिखाई दें तो उसे कोविड का टीका नहीं लगाया जा सकता। ठीक इसीतरह यदि कोई व्यक्ति हाल ही में किसी तरह की बीमारी से ठीक हुआ हो जैसे टायफाइड, मलेरिया, पीलिया या अन्य कोई भी बीमारी उसे हुई हो और उसने लंबे समय तक दवाइयों का कोर्स किया हो तो उन्हें टीका लगवाने से पहले एक बार चिकित्सक से परामर्श अवश्य करना चाहिए। क्योंकि यदि किसी के शरीर में हैवी एंटीबायोटिक्स के डोज का असर बाकी हो तो उसे कोविड का टीका लगाया जाना चाहिए या नहीं, इस बारे में उचित परामर्श चिकित्सक ही दे सकते हैं।
तिथि टीकाकरण
11 3324
12 3927
13 2634
14 3527
15 1791
16 125
20 39
21 47
(अप्रैल माह में हुए टीकाकरण )

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned