scriptचार दिन में एक बार हो रही जलापूर्ति, लोग परेशान | Patrika News
खास खबर

चार दिन में एक बार हो रही जलापूर्ति, लोग परेशान

कस्बे में गत दिनों से जलापूर्ति व विद्युत व्यवस्था गड़बड़ा जाने से यहां के उपभोक्ताओं को चार दिन में एक बार जलापूर्ति की जा रही है, जिससे कस्बे के लोगों के समक्ष गंभीर पेयजल संकट उत्पन्न हो रहा है।

बूंदीJun 25, 2024 / 04:15 pm

पंकज जोशी

चार दिन में एक बार हो रही जलापूर्ति, लोग परेशान

हिण्डोली पेयजल

हिण्डोली. कस्बे में गत दिनों से जलापूर्ति व विद्युत व्यवस्था गड़बड़ा जाने से यहां के उपभोक्ताओं को चार दिन में एक बार जलापूर्ति की जा रही है, जिससे कस्बे के लोगों के समक्ष गंभीर पेयजल संकट उत्पन्न हो रहा है।
जानकारी अनुसार यहां पर मेज नदी पेयजल योजना से कस्बे की जलापूर्ति हो रही है। एक सप्ताह से बिजली कटौती लगातार होने से जलदाय विभाग कस्बे के सभी मोहल्ले में चार दिन में एक बार जलापूर्ति कर रहा है, जिससे यहां के लोगों को पानी के लिए काफी परेशान होना पड़ रहा है। जलदाय विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मेजनदी पेयजल योजना से कस्बे की टंकियां भरी जा रही है।
इससे मुख्य टंकी 7 से 8 घंटे में भरती है। बीच में कई बार लाइट ट्रिप हो जाने से पानी आना बंद हो जाता है। यहां पर दो दिन तक विद्युत आपूर्ति काफी प्रभावित रही है। वहीं निगम के अधिकारी कभी भी बीच बीच में बिजली कटौती कर देते हैं। इससे कस्बे की टंकियां में पानी नहीं भर पाता। ऐसे में यहां पर चार-चार दिन में एक बार ही जलापूर्ति होने लगी है। जलदाय विभाग के अधिकारियों का कहना है की मेज नदी परियोजना को 24 घंटे बिजली मिलने पर कस्बे के लोगों को 48 घंटे में एक बार जलापूर्ति की जा सकती है। संवेदक के पानी सप्लाई करने वाले कार्मिकों का कहना है कि टंकियों में पानी कम आने से कस्बे के मोहल्ले में चार दिन में एक बार ही जलापूर्ति की जा रही है। जितना पानी आता है उतना ही नलों में छोड़ दिया जाता है।
विद्युत निगम के अधिकारी बिना सूचना के कभी भी बिजली काट कर देते हैं। कई बार तो 8 से 10 घंटे तक बिजली कटौती रहती है। ऐसे में मेज नदी पेयजल योजना की मोटर बंद होने से कस्बे के लोगों को समय पर पानी नहीं पहुंच पा रहा है। विद्युत निगम के सहायक अभियंताओं को कई बार पत्र व्यवहार किया जा चुका है ।यहां पर 24 घंटे बिजली मिली तब कस्बे में नियमित रूप से जलापूर्ति होगी।अभी चार दिन में एक बार जलापूर्ति हो रही है ।
शुभम शर्मा, सहायक अभियंता जलदाय विभाग।
यहां पर दो दिन विद्युत व्यवस्था गड़बड़ा गई थी ।उसके बाद सुचारू हो गई । मेज नदी परियोजना में 20 घंटे बिजली दी जा रही हैं। जलदाय विभाग अधिकारी निगम पर ठीकरा फोड़ रहे हैं जो गलत है।
भरत विजय, सहायक अभियंता , विद्युत निगम कार्यालय हिण्डोली।

Hindi News/ Special / चार दिन में एक बार हो रही जलापूर्ति, लोग परेशान

ट्रेंडिंग वीडियो