MARITIME DAY : इसलिए समुद्रों को कहते हैं दुनिया की आठवीं बड़ी अर्थव्यवस्था

-सितंबर के आखिरी गुरुवार को मनाया जाता है ‘विश्व समुद्री दिवस’
-30 फीसदी कार्बन उत्सर्जन सोखते हैं महासागर हर वर्ष
-80 फीसदी व्यापार समुद्री मार्गों से होता है दुनिया में

By: pushpesh

Published: 23 Sep 2020, 11:32 PM IST

सितंबर के आखिरी गुरुवार को मनाया जाता है ‘विश्व समुद्री दिवस’। पृथ्वी के 70 फीसदी हिस्से पर समुद्र है। इंसान के जीवन में समुद्र का महत्व कितना है, ये इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि महासागर विश्व की आठवीं बड़ी अर्थव्यवस्था के बराबर हैं। समुद्र में माल ढुलाई और इसके संसाधनों से दुनिया के बड़े देशों की अर्थव्यवस्था सीधी जुड़ी हुई है। जैसे अमरीका की अर्थव्यवस्था में 21.4 ट्रिलियन डॉलर और भारत की अर्थव्यवस्था में 2.9 ट्रिलियन डॉलर समुद का योगदान है। लेकिन समुद्र में हर वर्ष बढ़ता प्लास्टिक कचरा समुद्र की सेहत के लिए चिंता का विषय बन गया है। हर वर्ष करीब 1.10 करोड़ टन प्लास्टिक समुद्र में जा रहा है। जो समुद्री प्रजातियों के लिए खतरा बन गया है।

चिंता बढ़ाते तथ्य
-11 मिलियन टन प्लास्टिक कचरा जा रहा है समुद्रों में हर वर्ष
-29 मिलियन टर प्लास्टिक कचरा हो जाएगा 2040 तक प्रति वर्ष
-80 फीसदी प्लास्टिक होता है कुल समुद्री कचरे में
-10 लाख समुद्री पक्षी और एक लाख समुद्री जीव हर वर्ष प्लास्टिक प्रदूषण से मारे जाते हैं।

Show More
pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned