She News : भारतीय सेना का बढ़ेगा पराक्रम, मिलेगी 'शक्ति'

भारतीय सेना को जल्द ही महिला सैनिकों का पहला बैच मिलने वाला है। भारतीय सेना वर्ष 2030 तक करीब 1700 महिला सैनिकों को कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस में शामिल करने की योजना बना रही है ताकि धीरे-धीरे कर उन्हें सेना का अहम हिस्सा बनाया जा सके।

By: Neeru Yadav

Updated: 03 Apr 2021, 10:50 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली. भारतीय सेना को जल्द ही महिला सैनिकों का पहला बैच मिलने वाला है। बेंगलूरु के कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस में महिला सैनिकों के दस्ते की कड़ी ट्रेनिंग चल रही है, जो 6 जनवरी, 2020 को शुरू हुई थी। यह ट्रेनिंग 61 हफ्तों की है। 2017 में महिलाओं को सेना में सिपाही और हवलदार के पद पर तैनात किए जाने का फैसला किया गया था।

इसके बाद वर्ष 2019 में 101 महिलाओं का चयन किया गया। अभी तक भारतीय सेना में महिलाएं केवल सैन्य अधिकारी रही हैं। यह पहली बार होगा कि महिलाएं गैर अधिकारी श्रेणी में शामिल होंगी। हाल ही में महिला सैनिकों के दूसरे बैच के लिए लखनऊ में खुली भर्ती रैली भी हुई थी।

महिला शक्ति होगी पावरफुल

बताया जा रहा है कि भारतीय सेना वर्ष 2030 तक करीब 1700 महिला सैनिकों को कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस में शामिल करने की योजना बना रही है ताकि धीरे-धीरे कर उन्हें सेना का अहम हिस्सा बनाया जा सके। इधर, माना जा रहा है कि स्थाई कमीशन से भी सेना में महिला शक्ति को मजबूत आधार मिलेगा।

फैक्ट फाइल

  • 1992 से सेना में महिलाओं की भर्ती हुई शुरू
  • शॉर्ट सर्विस कमीशन में होती थी भर्ती
  • चुनिंदा विंग में कर सकती थीं काम
Neeru Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned